रकस गंडा जलप्रपात रेण नदी सेमरा घाट से हो रहा है रेत का अवैध उत्खनन एवं परिवहन।
रकस गंडा जलप्रपात रेण नदी सेमरा घाट से हो रहा है रेत का अवैध उत्खनन एवं परिवहन।                            ।        बलरामपुर रघुनाथ नगर से राजेश कुमार देवांगन की रिपोर्ट।            ।         बलरामपुर सूरजपुर में स्थित रकस गंडा जलप्रपात रेण नदी जो अपनी सुंदरता के लिए हमारे पश्चिमी क्षेत्र में विख्यात है इसी के मध्य में स्थित सेमरा घाट पड़ता है पिछले दिनों पत्रिका में एक खबर प्रकाशित हुई थी जिसमें मुख्यमंत्री श्री बघेल द्वारा यह आदेश जारी हुआ था कि जितने भी अवैध रेत खनन एवं परिवहन भंडारण हो रहे हैं उन सभी पर कार्यवाही करने के आदेश जारी हुए थे अगर इनमें किसी की संलिप्तता पाई जाती है तो उसमें सहयोग करने वाले प्रशासनिक अधिकारी तहसीलदार खनिज विभाग एवं कलेक्टर पर कार्यवाही की जाएगी लेकिन इसके विपरीत बिहार पुर और बलरामपुर के मध्य सेमरा घाट में दिनदहाड़े पिछले कई दिनों से रेत का अवैध उत्खनन एवं परिवहन रेत माफिया अवध पाठक के द्वारा धड़ल्ले से रेत का परिवहन किया जा रहा है अवध पाठक भाजपा का पूर्व मंडल अध्यक्ष भी है इसके दबंगई के कारण शासन के नियमों का उल्लंघन करते हुए धड़ल्ले से सेमरा घाट से ट्रकों के द्वारा रेत का अवैध परिवहन करवाया जा रहा है इसका कवरेज करने कुछ मीडिया साथी साइट पर पहुंचे तो उनके गाड़ी को रोककर वहां स्थित जेसीबी एवं अन्य गाड़ियों को हटा दिया गया लेकिन वहां पर रेत से भरे तीन ट्रक मिले वहां के ग्रामीणों द्वारा यह बताया गया कि यहां हर रोज पिछले कई दिनों से 6व7 ट्रकतक रेत का परिवहन यहां के रेत माफिया अवधपाठक के द्वारा दबंगई से रेत का परिवहन किया जा रहा है इसके बारे में जब वहां के प्रशासनिक अधिकारी एसडीएम जयप्रकाश राजपूत से बात हुई तो उनके द्वारा यह कहा गया कि मुझे इसकी जानकारी नहीं है तब वहां स्थित नायब तहसीलदार बिहारी लाल राजवाड़े से बात हुई तो उन्होंने कहा कि आज शाम को हम तीन ट्रक जप्त किए हैं इसकी जानकारी हम उच्च अधिकारियों को दे दिए हैं देखते हैं वह क्या करते हैं नायब तहसीलदार बिहारी लाल राजवाड़े द्वारा यह बात कही गई की अवध पाठक जहां से रेत का अवैध परिवहन करा रहा है वो अवैध रूप से चल रहा है उसके साइड का कोई लीज या कागज नहीं है आखिरकार इतने दिनों से  रेत का अवैध परिवहन हो रहा है लेकिन यहां के अधिकारी कर्मचारी क्यों मौन है वजह क्या है यह सोचने वाली बात है
Popular posts
साध्वी प्रेम बाईसा के जन्मदिवस पर संतों ने किया संगम वृक्षारोपण
चित्र
शासकीय नर्मदा महाविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन का शुभारंभ किया गया वाणिज्य के क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं डॉ.ओ.एन.चौबे
पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता
चित्र
मनसंगी साहित्य संगम की मासिक ई पत्रिका के सातवे अंक का शीर्षक "मतदान का महत्व" भव्य विमोचन समारोह।
चित्र
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी देश के प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती सादगी से जिले भर में मनायी।
चित्र