राज्यपाल ने कुमाऊँ विश्वविद्यालय द्वारा तैयार ई.आर.पी पोर्टल का अनावरण किया।
राज्यपाल ने कुमाऊँ विश्वविद्यालय द्वारा तैयार ई.आर.पी पोर्टल का अनावरण किया।

  रिपोर्ट । ललित जोशी ।
नैनीताल ।राज्यपाल श्रीमती बेबी रानी मौर्य ने शुक्रवार को राजभवन नैनीताल में कुमाऊँ विश्वविद्यालय द्वारा तैयार ई.आर.पी पोर्टल का अनावरण किया। उन्होंने कम्प्यूटर का बटन दबाकर पोर्टल लांच किया। इस मौके पर उनके साथ वि.वि के कुलपति प्रो.एन.के.जोशी भी उपस्थित रहे। 
        राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने कहा कि विश्व भर में व्याप्त कोरोना संकट के बीच विद्यार्थियों की सुविधा हेतु कुमाऊँ विश्वविद्यालय द्वारा नए सत्र 2021.22 हेतु ऑनलाइन एडमिशन पोर्टल आरम्भ किया जा रहा है जो सराहनीय है। उन्होंने कहा कि वि.वि द्वारा अकादमिक एवं प्रशासनिक क्रियाकलापों में पारदर्शिता एवं गुणवत्ता लाने हेतु ई०आर०पी० सॉफ्टवेयर सिस्टम उपयोगी सिद्ध होगा। इस संकट काल में नयी पद्धतियों को अपनाते हुए कुशलतापूर्वक अपना कार्य करने के लिए विश्वविद्यालय से जुड़े प्रत्येक जन को बधाई एवं शुभकामना। 
          राज्यपाल श्रीमती मौर्य ने कहा कि बदलते वैश्विक परिदृश्य को देखते हुए विश्वविद्यालय द्वारा पूर्ण डिजीटाइशेन की दिशा में कदम बढ़ाते हुए सूचना प्रौद्योगिकी अवस्थापनाओं के सृजन और उन्नयन हेतु प्रयास सराहनीय है। साथ ही नव निर्मित ई०आर०पी० सॉफ्टवेयर सिस्टम के माध्यम से प्रवेश प्रक्रिया एवं प्रवेश वरीयता सूची, शुल्क जमा एवं वापसी, औपबन्धिक व मूल शैक्षिक उपाधिपत्र की प्राप्ति, छात्रों की प्रतिक्रियायें एवं शिकायतें, सूचना का अधिकार सम्बन्धी आवदेन, वार्षिक एवं सेमेस्टर परीक्षा हेतु आवेदन, परीक्षा परिणाम तथा सम्बद्धता प्राप्ति हेतु आवेदन जैसे कार्य वर्तमान में ऑनलाइन प्रक्रिया द्वारा सुगमता से संचालित किये जा सकते हैं। 
         राज्यपाल ने कहा कि विश्वविद्यालय ने नेशनल इंस्टीटूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क में स्थान बनाने के प्रयास, प्लेसमेंट एंड कॉउंसलिंग सेल का पुनर्गठन छात्रहित में इनोवेशन एंड इन्क्यूबेशन सेंटर (नवोन्मेष व उद्भवन केंद्र) तथा कॉम्पिटिटिव एग्जामिनेशन सेंटर (प्रतियोगी परीक्षा केंद्र) की भी स्थापना की है। जिसका अकादमिक लाभ विद्यार्थियों को अवश्य प्राप्त होगा।
      उन्होंने अपेक्षा जतायी कि कुमाऊँ विश्वविद्यालय न केवल देश में बल्कि विश्व में भी अपनी अकादमिक उपलब्धियों के लिए पहचाना जाए। इस अवसर पर उन्होंने विद्यार्थियों को भी शुभकामना देते हुए कहा कि वे निरंतर उन्नति के पथ पर आगे बढ़े और अपने प्रदेश और देश के कीर्तिमान में वृद्धि करें।