हेल्पिंग हैंड ने बांटे सैनिटाइजर, मास्क और ग्लब्स,
हेल्पिंग हैंड ने बांटे सैनिटाइजर, मास्क और ग्लब्स,

 लगातार ड्यूटी कर रही मैदानी कार्यकर्ताओं को मिलेगी सुरक्षा।

बैतूल। कैलाश पाटिल 

कोरोना काल में सेवा के लिए बने 'हेल्पिंग हैंड द्वारा लगातार जरुरतमंदों की सहायता की जा रही है। संगठन द्वारा केवल मरीजों और परिजनों को ही मदद नहीं पहुंचाई जा रही है बल्कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए लगातार फील्ड में कार्य कर रहे कर्मचारियों की सुध भी ली जा रही है। इसी कड़ी में आज 'हेल्पिंग हैंड से जुड़ी समाज सेविकाओं द्वारा बैतूल शहर के आंगनवाड़ी केंद्रों में पदस्थ आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका और एएनएम को सैनिटाइजर, मास्क और ग्लब्स वितरित किए। 'हेल्पिंग हैंड की माधुरी साबले, शिखा भौरासे, तूलिका पचोरी, अभिलाषा बाथरी और मनीषा तिवारी ने बताया कि भगतसिंह वार्ड-3 आंगनवाड़ी में कार्यकर्ता कौशल्या हजारे, सहायिका सरिता मालवीय, चंद्रशेखर वार्ड-2 में कार्यकर्ता सुनिता लोखंडे एवं सहायिका मालती पाटिल, एएनएम ओमप्रभा यादव, आशा कार्यकर्ता कंचना उच्चसरे, पटेल वार्ड-2 में सहायिका बबीता महाले, शास्त्री वार्ड में सहायिका सोना अमझरे, चंद्रशेखर वार्ड-1 में सहायिका संगीता खातरकर, विकास वार्ड-1 में कार्यकर्ता उषा सातनकर, विकास वार्ड-2 में कार्यकर्ता गीता रावत, सहायिका करूणा जैन, गणेश वार्ड-1 में कार्यकर्ता कल्पना नाइक, सहायिका कांता कोसे, गणेश वार्ड-2 में कार्यकर्ता राधा दवंडे, सहायिका रत्ना मालवी, राजेंद्र वार्ड-1 में कार्यकर्ता राधिका गव्हाड़े, सहायिका सरिता गव्हाड़े, राजेंद्र वार्ड-2 में सहायिका रेखा पाटिल, राजेंद्र वार्ड-3 में सहायिका बिंदु धुर्वे, विकास वार्ड-1 में कार्यकर्ता पूजा सुरे को यह सामग्री भेंट की। समाजसेवी माधुरी साबले ने कहा कि कोरोना काल में यह सभी कर्मचारी पूरे दिन फील्ड में कार्य करती है और उन्हें सर्वे के लिए घर-घर भी पहुंचना पड़ रहा है। ऐसे में हमारे इन कोरोना वॉरियर्स की सुरक्षा भी बेहद आवश्यक है। हमने इसी की फिक्र करते हुए इन्हें यह सुरक्षा सामग्री प्रदान की है। अब यह पूरे मुस्तैदी से कार्य भी कर सकेंगी और कोरोना से सुरक्षित भी रह सकेंगी।