लाखो रुपए खर्च करने के बाद भी ग्रामीण प्यासेबीच गांव मे नही पंहुची सुविधा
लाखो रुपए खर्च करने के बाद भी ग्रामीण प्यासे
बीच गांव मे नही पंहुची सुविधा
26सौ फीट विछाई गई पाईप लाईन के वावजुद नलो मे नही आ रहा पानी
मसनगांव- हरदा विकास खंड की ग्राम पंचायत कमताडा मे पेयजल के लिए ग्रामिणो को संघर्ष करना पड़ रहा है जबकि पीएचई विभाग के द्वारा ठेकेदार के माध्यम से 36 लाख रुपए की लागत लगाकर 26 फीट नई पाइप लाइन विछाई गई है इसके बावजूद ग्रामीणों पीने के पानी के लिए यहां-वहां भटकने को मजबूर हो रहे हैं जानकारी के अनुसार करीबी ग्राम कमताडा में नल जल योजना के तहत जिन जगहो पर पाईप लाईन का आभाव था वंहा पर नई लाईन विछाकर पानी पंहुचाने की कवायद की गई पंरतु इसके वावजुद ग्रामिणो को पेयजल के लिए परेशान होना पड़ रहा है, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल व्यवस्था बनाने के लिए लाखों रुपए की राशि स्वीकृत की जा रही है इसके बावजूद ठेकेदार द्वारा व्यवस्थित काम नहीं करने से ग्रामीणों को इसका लाभ नहीं मिल रहा है ग्राम में भी सिराली मार्ग पर शंकर मंदिर से लेकर हरिजन मोहल्ले तक पाइप लाइन का विस्तार किया गया है परंतु इसके बाद भी कई घरों में पानी पहुंचने में परेशानी आ रही है ग्राम के सरपंच दीपचंद पंचोली ने बताया कि शासन के द्वारा 26 सौ  फीट पाइप लाइन बिछाने का काम की स्वीकृति दी गई थी जिसे खंडवा जिले के ठेकेदार के द्वारा कार्य को पूरा किया गया जिसमें 115 नये नल कनेक्शन ग्रामीणों को दिए गए हैं जिसमें एक ट्यूबवेल भी पीएचई विभाग के द्वारा कराया गया है पुरानी पाइप लाइन को पानी की टंकी से संचालित किया जा रहा है जिससे पूरे ग्राम में पानी की सप्लाई होती है ट्यूबवेल से जोड़कर सभी ग्रामीणों को पेयजल के लिए पानी उपलब्ध कराने की व्यवस्था वनाई  गई है।
जंहा ठेकेदार द्वारा 26सौ फीट पाईप लाईन विछाकर ग्राम मे नल जल योजना का विस्तार किया गया इसके वावजुद त्यागी मोहल्ले तक पाइप लाइन का विस्तार नहीं होने से पंचायत को पीएचई विभाग से पाइप लेकर मोहल्ले तक पानी पहुंचाने की व्यवस्था बनाना पड़ रही है इस सब के बावजूद ग्राम के हरिजन वार्ड में रहने वाले राकेश मंडराई गणेश मंडराई नारायण मंडराई मुकेश के घरों में लगे नलो मे  पानी नहीं पहुंचने से उन्हें आसपास में लगे ट्यूबवेल से पानी लाना पड़ रहा है।वही बीच गांव मे पेयजल की व्यवस्था नहीं होने से ग्रामीण खारा पानी पीने को मजबूर हो रहे हैं यहां पर कहने को तो पाइप लाइन बिछाई गई है परंतु गांव मे वनी टंकी का पानी नहीं पहुंचने से ग्रामीणों को पीने के पानी के लिए मीठे पानी की तलाश करनी पड़ती है
नालियो मे निकाले पाईप
पाइप लाइन बिछाने वाले ठेकेदार के द्वारा ग्रामीणों को घरों में पानी पहुंचाने के लिए नालियों में पाइप निकाल कर व्यवस्था बनाने का प्रयास किया गया है लेकिन घर ऊंचाई पर होने से पानी नहीं पहुंचने के कारण पेयजल की  व्यवस्था नही हो पा रही है।
160 पुराने कनेक्शन
 ग्राम में नल जल योजना के तहत 160 पुराने कनेक्शन हैं जिनमें  टंकी से पानी सप्लाई किया जाता है वहीं नई पाइप लाइन का विस्तार होने से 115 नए कनेक्शन और ग्रामीणों को दिए गए हैं इसके वावजुद व्यवस्था मे सुधार नही होने से संबधित ठेकेदार पर उंगलिया उठ रही है।
मसनगांव से अनिल दीपावरे की   रिपोर्ट