कृषि कानूनों को लेकर किसानों को किया जा रहा भ्रमित, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल कभी भी नहीं सोच सकते किसानों का बुरा : सांसद संजय भाटिया।

 कृषि कानूनों को लेकर किसानों को किया जा रहा भ्रमित, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री मनोहर लाल कभी भी नहीं सोच सकते किसानों का बुरा : सांसद संजय भाटिया।




करनाल 25 फरवरी ( संजय भाटिया) स्थानीय सैक्टर 14 स्थित श्रीकृष्णा मंदिर में वीरवार को कृषि कानूनों के संबंध में किसानों को जागरूक करने के लिए अहम बैठक का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष योगेन्द्र राणा ने की तथा मुख्य अतिथि के तौर पर सांसद संजय भाटिया ने शिरकत की। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में प्रदेश महामंत्री एडवोकेट वेदपाल ने अपना उद्बोधन दिया और इंद्री के विधायक रामकुमार कश्यप ने भी उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।

इस अवसर पर सांसद संजय भाटिया ने कहा कि किसानों को कृषि कानूनों को लेकर भ्रमित किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री मनोहर लाल कभी भी किसानों का बुरा नहीं सोच सकते। उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार ने किसानों के हितों में अनेक कल्याणकारी योजनाएं चलाई हैं। किसानों को भी इन योजनाओं का सीधा लाभ मिल रहा है। कार्यक्रम में भाजपा के किसान मोर्चा के सदस्यों तथा अन्य कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

सांसद ने कहा कि कृषि कानूनों को लेकर विपक्ष द्वारा कईं प्रकार की भ्रांतियां किसानों के बीच में फैलाई जा रही हैं। किसानों को किसी के बहकावे में आए बगैर इन कानूनों के फायदेे के बारे में सोचना होगा तभी उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार संभव होगा। उन्होंने कहा कि इन कानूनों में ऐसा कोई प्रावधान नहीं किया गया है जिससे मंडियां समाप्त हों और न्यूनतम समर्थन मूल्य खत्म हो जाएगा। उन्होंने कहा कि न्यूनतम समर्थन मूल्य पहले की तरह जारी रहेगा। वर्तमान बजट में 1 हजार ई मंडियों के ढांचेगत विकास के लिए बड़ी राशि आबंटित की गई है, जो इस बात का प्रमाण है कि मंडियां पूरी तरह से सुरक्षित हैं और रहेंगी। इसके अतिरिक्त मंडियों के क्षेत्र में सरकार विस्तारीकरण की भी योजना बना रही है।

इंद्री के विधायक रामकुमार कश्यप ने दूसरे कृषि कानून जिसमें अनुबंधित खेती यानि कांट्रैक्ट फार्मिंग की बात की गई है उस पर बोलते हुए कहा कि यह विपक्ष का सफेद झूठ है कि किसानों की जमीन पर व्यापारियों का कब्जा हो जाएगा। देश के अलग-अलग हिस्सों में कांट्रैक्ट फार्मिंग के सफल प्रयास हो चुके हैं जिससे किसानों को बड़ा फायदा हुआ है।


तथ्य, सत्य और किसान आंदोलन को लेकर प्रदेश महामंत्री एडवोकेट वेदपाल ने कार्यकर्ताओं को किया संबोधित।

प्रदेश महामंत्री एडवोकेट वेदपाल ने इस अवसर पर कहा कि कृषि कानून पूरी तरह से किसानों के हित में है, किसान मंडियों के अतिरिक्त अपनी फसल को पूरे देश में बेच सकता है। उन्होंने कहा कि मंडियां और एमएसपी पहले की तरह लागू रहेंगी। इस संबंध में फैलाई जा रही अफवाहों से बचें तथा अपने हितों के बारे में सोचें। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा बनाए गए तीनों कृषि कानून देश की अर्थव्यवस्था और किसानों के आर्थिक उत्थान की दिशा में उठाया गया सराहनीय कदम है। इन कानूनों का लाभ लेकर किसान केवल एक मंडी तक सीमित नहीं हैं बलिक उसकी फसल बेचने का क्षेत्र असीमित हो गया है। उन्होंने कहा कि इन कानूनों से किसान अपनी आय में बढ़ोतरी कर सकेंगे और अधिक मुनाफा कमा सकेंगे।

इस मौके पर उपस्थित जिलाध्यक्ष योगेन्द्र राणा ने उपस्थित लोगों का स्वागत किया और कार्यकर्ताओं की ओर से आश्वासन दिया कि सभी साथी किसान आंदोलन की सत्यता को बखूबी जन-जन तक पहुंचाएंगे और लागू किए गए तीनों कृषि कानूनों को लेकर किसानों की भ्रांतियों को दूर करने का कार्य करेंगे।

इस अवसर पर मेयर रेनू बाला गुप्ता, सीनियर डिप्टी मेयर राजेश अग्गी, मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि संजय बठला, स्वच्छ भारत मिशन हरियाणा के उपाध्यक्ष सुभाष चंद्र, पूर्व विधायक स. बख्शीश सिंह विर्क, पूर्व विधायक भगवानदास कबीरपंथी, जिला महामंत्री राजबीर शर्मा, जिला मीडिया प्रभारी संजय मदान, मंडल अध्यक्ष सुनील गुप्ता, जयपाल शर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष अशोक सुखीजा, राजेश आर्य, ईलम सिंह, प्रवीण लाठर, दीपक गुप्ता, संतोष अत्रेजा, सोनिया पंडित, रजनी परोचा सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित रहे।