थोड़े दिनों पहले बनी रेलिंग आखिर क्यों टूटी, सवालों के घेरे में है निर्माण
*थोड़े दिनों पहले बनी रेलिंग आखिर क्यों टूटी, सवालों के घेरे में है निर्माण*
हादसों को बढ़ावा दे रही है टूटी रेलिंग, ग्रामीण हो रहे परेशान
*करनाल, 28 फरवरी (संजय भाटिया) :* काछवा से बहलोलपुर को जोडऩे वाली सड़क के बीच बनी डे्रन की रेलिंग कई समय से टूटी पड़ी है। जिससे पहले भी कई हादसे यहां घटित हो चुके है। हालांकि ग्रामीणों द्वारा कई बार इसकी शिकायत उच्च अधिकारियों को की हुई है। यहां तक कि ग्रामीण इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि संजय बठला से भी मिले थे और लिखित में ज्ञापन दिया था। जिसके बाद अधिकारियों ने तुरन्त संज्ञान लेते हुए इस रेलिंग का निर्माण कर दिया गया था। रेलिंग के निर्माण के कुछ दिन बाद फिर से रेलिंग टूट गई। जिसके बाद यहां की स्थिति जस की तस बनी हुई है। ग्रामीणों का कहना है कि थोड़े दिनों पहले ही रेलिंग का निर्माण किया गया था। इतनी जल्दी रेलिंग टूटने कारण ही नहीं बनता। उन्होंने अधिकारियों से मांग की है कि पहले हुई रेलिंग के निर्माण की जांच होनी चाहिए। क्या निर्माण में घटिया सामग्री लगाई गई, क्या अधिकारियों ने आनन-फानन में मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि को दिखाने के लिए नाममात्र ही निर्माण कर दिया गया था। टूटी रेलिंग होने के कारण यहां से गुजरने वाले ग्रामीण अब परेशान है। क्योंकि न तो पुल के दोनो साईड साईन बोर्ड लगे है, जिस कारण सड़क पर मोड़ होने के कारण राहगीरों को टूटी रेलिंग तक दिखाई नहीं देती और हादसों का अंदेशा बना रहता है। अब ग्रामीणों की मांग है कि जल्द से जल्द यहां बढिय़ा सामग्री से रेलिंग का निर्माण हो। 

बॉक्स
क्या कहते है जे.ई : जब इस मामले बारे पी.डब्लयू.डी के जे.ई गौरव से बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि रेलिंग को पहले भी बढिय़ा सामग्री लगाकर बनाया गया था। लेकिन दोबारा से जो रेलिंग टूटी है यह हमें नहीं पता किस कारण यह रेलिंग टूटी है। उन्होंने कहा कि पुल के निर्माण के लिए फाईल गई हुई है। जैसे ही फाईल मंजूर होकर आ जाएगी तो पुल का निर्माण कर दिया जाएगा।  

फोटो=19