मुख्य शाखा मे लगाया हेडप निचे पानी नही आने दे रहे किसान
मुख्य शाखा मे लगाया हेडप निचे पानी नही आने दे रहे किसान
मसनगांव- नहर विभाग के अधिकारियों की मिलीभगत से कुछ किसानों के द्वारा नहर की मुख्य शाखा में बड़े हेड अप बांधकर पानी रोका जा रहा है जिससे मुख्य शाखा मे ही  नीचे की और पानी कि एक बूंद भी नहीं पहुंच रही है इसका नजारा शनिवार के दिन सेवन एल  शाखा के पास दिखा जहां नहर विभाग के कर्मचारियों के सामने किसानों ने पत्थरो का वडा हेड़प बांधकर रखा जिसे तोड़ने का प्रयास भी नहीं किया गया । सोनतलाई सब डिविजन में पानी की कमी को लेकर किसानों के द्वारा कृषि कल्याण मंत्री कमल पटेल को ज्ञापन सौंपा गया था इसके बावजूद भी विभाग द्वारा व्यवस्था में सुधार नहीं किया गया जिसके चलते किसानों को पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है।
 नहर में पानी की कमी की समस्या बनी होने पर निराश किसानों ने विगत दिनो कृषि मंत्री कमल पटेल को ज्ञापन सौंपकर चक्काजाम आंदोलन की चेतावनी दी थी मंत्री पटेल अपने निवास वारंगा से हरदा की ओर जा रहे थे जिनके  काफिले को रोककर ग्रामीणों ने नहर में पानी की समस्या से अवगत कराया था जिस पर मंत्री पटेल के द्वारा जल संसाधन विभाग के कार्यपालन यंत्री को फोन पर निर्देश देकर नहर में पानी बढ़ाने के आदेश दिया थे पंरतु इसके वावजुद विभाग पानी की व्यवस्था मे नाकाम रहा।ग्राम की सोनतलाई सब डिवीजन में सेवन एल माईनर से नीचे पानी नहीं पहुंचने से किसानों को गेहूं की फसल में समय पर पानी नहीं मिल रहा है जिसके चलते फसलें प्रभावित हो रही हैं इसे देखते हुए ग्रामीणों द्वारा जल संसाधन विभाग से पानी बढ़ाए जाने की मांग की जा रही है जिसके लिए अधिकारियों को मोबाइल पर संपर्क करने का प्रयास किया जा रहा है परंतु कोई भी अधिकारी मोबाइल रिसीव नहीं कर रहा है जिससे परेशान किसानों के द्वारा आंदोलन करने की चेतावनी दी गई, क्षेत्रीय विधायक एवं कृषि किसान कल्याण एवं कृषि मंत्री कमल पटेल के द्वारा नहर में पानी बढ़ाए जाने के निर्देश देने के बाद भी यदि व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ  क्षैत्र के किसानो द्वारा पानी को लेकर आंदोलन किया जा सकता है।ग्राम के कृषक गणेश मुकाती बाजू लाल छलोत्रे कमलेश बांके सतीश पाटिल पवन पाटिल नितेश पाटिल दीपेश भाय रे उमेश छलोत्र गणेश वास्या प्रमोद भायरे राजा पटैल अजय पाटिल आदि ने बताया कि जल संसाधन विभाग द्वारा यदि पानी की वितरण व्यवस्था में सुधार नहीं किया जाता है तो आंदोलन किया जाएगा।
मसनगांव से अनिल दीपावरे कि  रिपोर्ट