शिक्षा के साथ ही पुस्तकों का वितरण कर रहे हैं बहुभाषी शिक्षाविद एवं समाजसेवी धर्म सिंह फरस्वान।
शिक्षा के साथ ही पुस्तकों का वितरण कर रहे हैं बहुभाषी शिक्षाविद एवं समाजसेवी धर्म सिंह फरस्वान।


 जनपद चमोली से केशर सिंह नेगी की एक विशेष रिपोर्ट

थराली।

कोरोना काल में जहां हर व्यक्ति रोजगार को लेकर परेशान है, या आर्थिकी का रोना रो रहा है । वही थराली की बुरसोल गांव के धर्म सिंह फर्स्वाण स्कूलों कॉलेजों में जाकर छात्रों को ज्ञान बांट रहे हैं। ज्ञान ही नहीं ज्ञान के साथ-साथ निशुल्क पुस्तकें भी बांट रहे है। जर्मन एवं अन्य भाषाओं में पारंगत फरस्वान का मुख्य उद्देश्य क्षेत्र में शिक्षा को बढ़ावा देना है। कोरोना काल के दौरान थराली विकासखंड सहित चमोली जनपद के कई स्कूलों कॉलेजों में उनके द्वारा पुस्तकों का वितरण किया गया है। कुछ दिन पूर्व गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत के चमोली जनपद के भ्रमण के दौरान जब सांसद दो दिवसीय भ्रमण पर पिंडर घाटी के थराली, देवाल एवं नारायण नगर विकास खंडों के 2 दर्जन से अधिक गांवों का भ्रमण कर रहे थे तो बहुभाषी एवं शिक्षा महारथी धर्म सिंह फरस्वान उनके साथ भी यात्रा कर रहे थे। विकासखंड थराली के पंचायत भवन में या फिर खंड विकास सभागार में स्वयं गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत ने भी छात्रों को उनके द्वारा दी गई पुस्तकें वितरित की है। एक भेंट में ने फर्सवाण ने बताया कि उन्हें अनेक भाषाएं का ज्ञान है। वह मसूरी के विभिन्न स्कूलों में अलग-अलग भाषाओं का शैक्षणिक कार्य करते है।  उन्हें दर्द है कि दूरस्थ पहाड़ी क्षेत्रों में शिक्षा का स्तर कमजोर है। वही अच्छी पुस्तकें भी नहीं मिल पाती है। इसी बात को ध्यान में रखकर  शिक्षा का प्रचार करने के लिए पहाड़ की कंदराओं मे निकल गए हैं एवं पिछले दो माह से विभिन्न स्थानों पर जाकर पुस्तकों का वितरण कर रहे हैं एव पुस्तकों के वितरण से क्षेत्र में उन्हें पहचान मिल रही है । और लोग उनके काम की काफी सराहना भी कर रहे हैं।