ग्राम पंचायत स्तर पर भी बनाए जाएगे आयुष्मान कार्ड

 


ग्राम पंचायत स्तर पर भी बनाए जाएगे आयुष्मान कार्ड
कलेक्‍टर ने की आयुष्‍मान भारत लाभार्थी कार्ड बनाए जाने के कार्य की समीक्षा
हरदा | 09-दिसम्बर

   कलेक्टर श्री संजय गुप्‍ता द्वारा जिले में लोक सेवा केंद्रो एवं कॉमन सर्विस सेंटरों के माध्‍यम से आयुष्मान भारत लाभार्थी कार्ड बनाए जाने के कार्य की प्रगति की समीक्षा की। जिले में वर्तमान में 1 लाख 07 हजार 148  आयुष्मान गोल्डन कार्ड ही बने है। कलेक्टर श्री गुप्‍ता ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी हरदा, जिला समन्वयक आयुष्मान भारत, लोकसेवा केंद्रो एवं कॉमन सर्विस सेंटरों के जिला प्रबंधको को समय सीमा में आयुष्मान भारत कार्ड बनाए जाने हेतु निर्देशित किया।
   मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत हरदा श्री रामकुमार शर्मा ने मुख्य नगरपालिका अधिकारी नगरीय क्षेत्र हरदा, टिमरनी एवं खिरकिया तथा पंचायत स्तर पर समस्त पंचायत सचिव एवं रोजगार सहायकों को आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत अधिक से अधिक आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाने एवं योजना के व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये। उन्होने पंचायत स्तर के मैदानी अमले,आशा कार्यकर्ता,आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के माध्‍यम से ग्रामीणों को आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनाने की जानकारी एवं योजना के महत्व की जानकारी साझा करने के निर्देश दिये।
    प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अंतर्गत निरामयम आयुष्मान भारत योजना में पात्र हितग्राही परिवार को 05 लाख रूपये तक का सालाना केशलेस चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराने हेतु आयुष्मान भारत योजना का गोल्डन कार्ड बनाये जाना है। इस योजना के तहत पात्र परिवार के गोल्डन कार्ड धारक सदस्य देश भर के सभी शासकीय अस्पताल/मेंडिकल कालेज सहित सुचिबद्ध निजी अस्पतालो में निरामयम आयुष्मान भारत योजना के गोल्डन कार्ड की सहायता से पूर्ण रूप से निःशुल्क उपचार प्राप्त कर सकते है। भारत सरकार की आयुष्मान भारत योजना में प्रत्येक पात्र परिवार के आयुष्मान कार्ड बनाऐ जा रहे है। कॉमन सर्विस सेन्टर, लोक सेवा केंद्र में आयुष्मान कार्ड बनाऐ जा रहे है। आयुष्मान कार्ड की सेवा के लिए 30 रूपये शुल्क तय है।
   आयुष्मान गोल्डन कार्ड बनाने हेतु संबंधित व्यक्ति को समग्र आईडी, आधार कार्ड, इनमें से कोई भी दस्तावेज केन्द्र पर संलग्न करना जरूरी होगा। सभी संबल कार्ड धारी, खाद्यान्न पर्चीधारी व ऐसे सभी लोग जिनके नाम एसईसीसी सूची (सामाजिक आर्थिक जातिगत गणना 2011) में हैं, वे आयुष्मान कार्ड के लिए पात्र हैं। ग्रामीण जन अपनी पात्रता जांच करवा कर पात्र होने पर योजना का गोल्डन कार्ड बनवा सकते है। योजनार्न्‍तगत ग्रामीण अपनी पात्रता जांच नजदीकी कॉमन सर्विस सेंन्टर या लोक सेवा केन्द्रो पर करवा सकते है। किसी आपात स्थिति/दुर्घटना आदि में अतिआवश्‍यक होने पर जिला अस्पताल हरदा में स्थित आयुष्मान कक्ष में भी अपनी पात्रता जांच करवा कर कार्ड बनवा सकते है।