नये वर्ष पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने दी देशवासियों को शुभकामनाएं
नये वर्ष पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानी ने दी देशवासियों को शुभकामनाएं

बैतूलसारनी। कैलाश पाटिल

नये वर्ष पर सभी देशवासियों को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी डॉ. कृष्णा मोदी ने शुभकामनाएं दी। डॉ. मोदी ने प्रेस नोट जारी करते हुए कहा कि मैं अपना कर्तव्य समझता हूं कि जिस तरह वर्ष 2020 जनवरी में देश के भीतर कॉरोनो जैसे महामारी ने अपना प्रकोप दिखया जिससे निपटने के लिए हमारी सरकार की नींद मार्च माह में खुली और एकाएक बिना जनता को मौका दिए देश में लॉक डाउन लगा दिया गया था। साथी साथ धारा 188/144 लागू कर दिया गया था जिसके चलते लाखो मज़दूर/ प्रवासी मज़दूर बेरोज़गार हो गए। अनगिनत लोगो को अपनी जान गवानी पड़ी थी।

कोरोना महामारी की आड़ में हमारी सरकार ने 44 श्रमिक कानूनों को खत्म कर सिर्फ कानून आंसू पोछने के लिए बनाए गए है जिसमे श्रमिको के सारे अधिकार खत्म किए गए है। 8 घंटे की जगह पर 12 घंटे का दिन होगा। इसी प्रकार किसानो के भी एक कानून था अब 3 कानून बना दिए है जिससे किसानो से उद्योगपतियों और जखिरेबाजो की जबरदस्त प्रगति होगी जिसके लिए किसान आज भी कड़ाके की ठंडी में आंदोलनरत है ऐसा लगता है कि प्रजातंत्र कमज़ोर हो गया है क्योंकि प्रमुख मुद्दों पर जिस प्रकार जनता के समूह से कानून बनाने चर्चा होती थी अब नहीं होती है। आने वाला वर्ष भी कोई साफ नजर नहीं आ रहा है क्योंकि कोरोना 3.0 का जबरदस्त हमला होगा। वेतन कटौतियां होगी उद्योग पतियो का हौसला बदेगा कार्यपालिका का आतंक बढ़ेगा। न्यायपालिका कमज़ोर होगी, विधायिका में सामूहिक करण के बजाय एकीकरण होगा। ऐसी हालत में देश की जनता खुशहाल होने के बजाय बरबादी की और जाएगी इस लिए आने वाले साल जनता के लिए काफी संघर्ष पूर्ण रहेगा। डॉ. मोदी में कहा कि मैं यही कामना करता हूं कि हम सभी को एकता बनाते हुए अपने मिले हुए अधिकारों को बरकरार रखने के लिए स्वयं जागृत होने पड़ेगा एवम् जनता को जागृत करेंगे।