सफाई कर्मचारियों ने नपा प्रशासन तथा चेयर पर्सन पति पर लगाए फर्जीवाड़े एवं उत्पीड़न के आरोप
सफाई कर्मचारियों ने नपा प्रशासन तथा चेयर पर्सन पति पर लगाए फर्जीवाड़े एवं उत्पीड़न के आरोप

एस.डी.एम को लिखित शिकायत देकर न्याय की गुहार लगाई।

 इंसाफ ना मिलने पर नपा कार्यालय के गेट पर करेंगे आत्मदाह

बराड़ा 26 दिसंबर(जयबीर राणा थंबड़)

नपा के पूर्व सफाई कर्मचारियों ने नपा प्रशासन तथा चेयर पर्सन पति पर शोषण ,उत्पीड़न तथा फर्जीवाड़े का आरोप पत्र एस.डी.एम बराड़ा गिरीश चावला को देकर न्याय दिलाने की गुहार लगाई है। करोना कॉल मे सफाई का काम करने वाले कर्मचारी नरेश, रोहित ,कुलदीप तथा राहुल का कहना है कि चेयर पर्सन पति हनी पाहवा ने उनकी ड्यूटी अपने रजौली रोड पर स्थित शैलर में काम करने के लिए लगाई  ।जिसका हमने विरोध करते हुए निजी काम करने से मना कर दिया ।चेयर पर्सन पति ने अपनी खुन्नस निकालने के लिए हमें व हमारे अन्य कई साथियों को नौकरी से निकाल दिया। इतना ही नहीं बल्कि हमारे कई माह का वेतन भी रोक दिया। तत्पश्चात हमारे अशिक्षित तथा अर्धशिक्षित होने के कारण खाली कागज पर नौकरी पक्की करने की बात कह कर हस्ताक्षर करवा लिए तथा फर्जी हस्ताक्षर कर हमारा वेतन भी हड़प लिया lहमने क्रोना महामारी संकटकाल में अपनी जान जोखिम में डालकर साफ-सफाई तथा दाह संस्कार आदि कार्यों को पूरी कर्तव्य परायणता से निभाया ।परंतु फिर भी हमारा वेतन रोक कर फर्जीवाड़ा किया गया तथा हमें उत्पीड़न का शिकार बनाया गया।


सीएम विंडो पर दी शिकायत झूठा आश्वासन देकर वापिस करवाई


पीड़ित सफाई कर्मचारियों का कहना है कि उन्होंने वेतन के फर्जी भुगतान कर फर्जीवाड़े तथा उत्पीड़न संबंधी शिकायत सीएम विंडो के माध्यम से मुख्यमंत्री हरियाणा को भेजकर इंसाफ दिलाने की गुहार लगाई थी ।कुछ दिन पश्चात चेयर पर्सन तथा नपा के अधिकारियों ने उन पर दबाव डालकर तथा पुनः  प्राथमिकता के आधार पर नौकरी पर वापिस लगाने का आश्वासन देकर सीएम विंडो पर दी शिकायत को उठाने को विवश कर दिया ।परंतु इस बीच भाई भतीजावाद के चलते कई अन्य चाहेते लोगों का चयन कर नई भर्ती करते हुए सफाई कर्मचारी लगाए गए। कई माह बीत जाने के बाद भी आज तक न तो हमारा बकाया वेतन का भुगतान किया गया तथा ना ही हमें काम पर वापस लिया गया।


इंसाफ ना मिलने पर कार्यालय के गेट पर करेंगे आत्मदाह


बर्खास्त सफाई कर्मचारी नरेश, कुलदीप ,राहुल तथा रोहित का कहना है कि हम लोग दलित परिवार से संबंधित होने के चलते पहले ही गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे थे ।कई माह से काम तथा वेतन न मिलने के कारण हम और हमारा परिवार भूखा मरने के लिए विवश है। समय-समय पर कुछ सीजनल छोटा-मोटा काम कर हम अपने परिवार की उदर पूर्ति करते हैं। सभी मंचों पर बार-बार शिकायत देकर कहीं से भी इंसाफ ना मिलने के कारण बुरी तरह से निराश होकर टूट चुके हैं ।अब एस.डी.एम बराड़ा को लिखित शिकायत देकर अपनी पीड़ा बताई है। यदि हमारी पीड़ा का शीघ्र निवारण नहीं किया गया तो हम नगर पालिका कार्यालय के गेट पर आत्मदाह करके अपनी जीवन लीला समाप्त करने के लिए विवश होंगे, जिसके लिए नपा प्रशासन तथा चेयर पर्सन पति जिम्मेदार होंगे।

                 

                      सफाई कर्मचारियों को ठेकेदार ने वर्षा के मौसम में तदर्थ आधार पर अस्थाई नौकरी पर रखा था ।कर्मचारियों का नगर पालिका से नहीं ठेकेदार से विवाद है


                                    जतिंदर शर्मा 

                                      सचिव ,नगर पालिका बराड़ा।


सफाई कर्मचारियों की ठेकेदार ने आउट सोर्स नीति के तहत  अस्थाई भर्ती की थी। नगरपालिका तथा मेरा इनसे कोई विवाद नहीं। सभी आरोप निराधार है।

                                    हनी पाहवा 

                                          चेयर पर्सन पति

                                             नगरपालिका बराड़ा।


कैप्शनः विवाद संबंधी दस्तावेज दिखाते पीड़ित कर्मचारी

             नगरपालिका सचिव जतिंदर शर्मा
Popular posts
शासकीय नर्मदा महाविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन का शुभारंभ किया गया वाणिज्य के क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं डॉ.ओ.एन.चौबे
पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता
चित्र
पोटाची खळगी भरण्यासाठी रेल्वे गाड्यांमध्ये खेळणी विकणाऱ्या अथवा गायन, संगीत कला सादर करणाऱ्या वांगणी येथील सुमारे ४५० अंध बांधवांसोबत कार्य सम्राट सांसद डॉ शिंदे ने साजरी केली दिवाळी
चित्र
अवैध उत्खनन के विरुद्ध जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई,
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी देश के प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती सादगी से जिले भर में मनायी।
चित्र