उत्तराखंड की संस्कृति बेहद अनूठी है। डी आई जी भरणे।
उत्तराखंड की संस्कृति बेहद अनूठी है। डी आई जी भरणे।

रिपोर्ट ललित जोशी सहयोगी धर्मा चन्देल।

नैनीताल। सरोवर नगरी नैनीताल में छात्रसंघ के तत्वाधान में डीएसबी परिसर में दो दिवसीय सांस्कृतिक महोत्सव गूंज की शुरुआत  हो गई है। कार्यक्रम का शुभारंभ परिसर के ए एन सिंह सभागार में मुख्य अतिथि व विशिष्ट अतिथि द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया गया। जिसके बाद छात्र संघ के अध्यक्ष विशाल वर्मा ने मुख्य अतिथि के रूप में डीआईजी डॉ नीलेश आनन्द भरणे को प्रतीक चिन्ह भेंट किया और विशिष्ट अतिथि अरविंद पडियार को शॉल उड़ाकर स्वागत किया।
डीएसबी परिसर के संस्कृतिक महोत्सव गूंज कार्यक्रम में डीआईजी नीलेश आनन्द भरणे ने कार्यक्रम को शुभारंभ करते हुए कहा कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों को बढ़ावा देने के लिए इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाना आवशयक है। वहीं कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा की उत्तराखण्ड की संस्कृति बेहद अनूठी हैं और वर्तमान में हर युवा को इसे सहेजते हुए इसके संरक्षण के लिए बेहतर कदम उठाने चाहिए।
 इसके साथ ही उन्होंने विद्यार्थियों को बताया की जीवन में सफलता पाने के लिये किसी उद्देश्य का होना क्यो जरूरी है। कार्यक्रम का संचालन हरीश राणा, दिव्यांशी, अनमोल, कल्याणी, तरुण, नवनीत ने किया।
इस दौरान अध्यक्ष विशाल वर्मा, सचिव हिमांशु भट्ट, सांस्कृतिक सचिव करन बिष्ट, कोषाध्यक्ष फैजान कुरेशी, छात्रा उपाध्यक्ष पूजा रौतेला, चेतना कत्यूरा, प्रांजलि चन्दोला, अमन सिंह राणा व राकेश मौजूद रहे।
Popular posts
कारखानों ,वेयरहाउस की छत के ऊपर गोल-गोल क्या घूमता रहता है
चित्र
शासकीय नर्मदा महाविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन का शुभारंभ किया गया वाणिज्य के क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं डॉ.ओ.एन.चौबे
पोटाची खळगी भरण्यासाठी रेल्वे गाड्यांमध्ये खेळणी विकणाऱ्या अथवा गायन, संगीत कला सादर करणाऱ्या वांगणी येथील सुमारे ४५० अंध बांधवांसोबत कार्य सम्राट सांसद डॉ शिंदे ने साजरी केली दिवाळी
चित्र
अवैध उत्खनन के विरुद्ध जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई,
पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता
चित्र