मुख्यमंत्री शिवराज ने समर्थ सदगुरु के सानिध्य में दिया धरा प्रकृति संरक्षण संवर्धन प्रेम का जीवंत संदेश
मुख्यमंत्री शिवराज ने समर्थ सदगुरु के सानिध्य में दिया धरा प्रकृति संरक्षण संवर्धन प्रेम का जीवंत संदेश
देश के पहले मुख्यमंत्री जो नित्य ईश्वर की सगुण उपासना प्रकृति धरती के संरक्षण सम्वर्धन का दुनिया को संदेश दे रहे।

शक्ति ईश्वर की सगुण उपासना है देववृक्षमूर्ति की स्थापना-समर्थ सद्गुरु
समर्थ सदगुरु के सत्याग्रह की मांगों पर बनी सहमति
अमरकंटक से सम्पूर्ण नर्मदा पथ हरित क्षेत्र संरक्षित होगा निर्माण अतिक्रमण पूर्णतः प्रतिबंधित होंगे

नर्मदा शुद्धिकरण संरक्षण सम्वर्धन की कार्ययोजनाओं नीति कानून उच्च न्यायालय के आदेशों के क्रियान्वयन के लिए राज्य सरकार पूर्ण संकल्पित है
अमरकंटक से सम्पूर्ण  नर्मदा के जल संग्रहण हरित क्षेत्र होगा पूर्ण संरक्षित।

मां नर्मदा गौ संरक्षण सम्वर्धन के लिए विगत 277 दिनों से अन्न आहार फलाहार त्याग नर्मदा जल पर सत्याग्रह कर रहे नर्मदा प्रकृति उपासक नर्मदा मिशन के संस्थापक नर्मदा सेवा यात्रा महाअभियान के प्रेरणा स्रोत समर्थ सदगुरु भैयाजी सरकार राजधानी भोपाल पहुंच मुख्यमंत्री के द्वारा लिए नित्य महासंकल्प वृक्ष लगाओ धरती बचाओ  जीवन बचाओ अभियान में शामिल हुए।
मुख्यमंत्री निवास पर हुई नर्मदा संरक्षण सम्वर्धन एवं सत्याग्रह को लेकर  परिचर्चा के बाद विगत 277 दिनों से निराहार सत्याग्रह व्रत कर रहे समर्थ सद्गुरु भैयाजी सरकार को मुख्यमंत्री शिवराज जी के भावपूर्ण आत्मनिवेदन आग्रह पर मां नर्मदा जल के साथ फल समर्थ सद्गुरु ने ग्रहण किया।
अन्न आहार चातुर्मास महाव्रत एवं नर्मदा शुद्धिकरण संरक्षण सम्वर्धन की योजनाओं नीति उच्च न्यायालय आदेशों के क्रियान्वयन होने पर पूर्ण होगा।
भोपाल के स्मार्ट पार्क में समर्थ सद्गुरु द्वारा दिये आश्रीवाद स्वरूप देववृक्ष कदम को स्थापित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज ने संदेश देते हुए कहा कि पौधे न केवल हमें प्राणवायु प्रदान करते हैं, अपितु फल-फूल के साथ आनंद भी प्रदान करते हैं।
ये मनुष्य के जीवन की समृद्धि का द्योतक हैं,पौधे लगाइये, धरती के साथ आपका जीवन भी समृद्ध होगा।