लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला यानी सच सुनना चाहती नहीं सरकार यह आपातकाल की ओर बढ़ता हुआ कदम
कौशांबी की खबरें

- लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर हमला यानी सच सुनना चाहती नहीं सरकार यह आपातकाल की ओर बढ़ता हुआ कदम

- अजाद भारत देश में लोकतंत्र का चौथा स्तंभ खतरे में दिखाई दे रहा है क्योंकि आजाद भारत में यह पहली बार हो रहा है कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ पर सरकार कायरतापूर्ण हमला कर विरोध की हर आवाज़ को दबाना चाहती है। इससे ज्यादा शर्म की और क्या बात हो सकती है कि सरकार अपनी रत्तीभर आलोचना भी बर्दाश्त नहीं कर सकती है। जिस तरह से भास्कर और भारत समाचार पर IT के छापे से मीडिया को दबाने की क्रूर कोशिश की जा रही रही है, वो कभी भी अपने नापाक मंसूबो में कामयाब नही होंगे। 

*खोदा पहाड़ निकली चुहिया भी नहीं

*- कौशाम्बी जिले के चायल तहसील में आज तहसील के पत्रकारों ने चायल प्रेस क्लब के अध्यक्ष सईदुर रहमान की अगुवाई में एसडीएम ज्योती मौर्या को महामहीम राष्ट्रपती को  संबोधित ज्ञापन दिया है 22/07/2021 को भारत समाचार के दफ्तर व एडिटर इन चीफ ब्रजेश मिश्रा के घर पर आईटी की रेड मामले में आज तहसील के पत्रकारों ने इकट्ठा होकर प्रदर्शन किया और चायल तहसील एसडीएम को ज्ञापन सौंपा है ज्ञापन में कहा गया है कि भारत समाचार के दफ्तर में सरकार के द्वारा जबरन छापा मारकर डरवाया जा रहा है। भारत समाचार सच के साथ था सच के साथ है और रहेगा भारत समाचार  एडिटर इन चीफ, यूपी हेड के घर पर छपेमारी की जा रही थी किन्तु 40 घण्टे आईटी की रेड चली है किन्तु कुछ हांसिल नही हुआ हैं।
इसलिए कहा जाता है की समेशा सत्य को विजय मिलती है *कहा था ना सत्य मेव जयते* सत्य ही जीता है भारत समाचार के चीफ हेड बृजेश मिश्रा के यहां से आइटी को 40 घंटे बाद खाली हाथ ही लौटना पडा़

 यूपी स्टेट से मिडिया प्रभारी पवन मिश्रा की रिपोर्ट