श्वेताबंर जैन संतो का पद विहार कल जैन सामाज ने की विशेष व्यवस्था
 श्वेताबंर जैन संतो का पद विहार कल जैन सामाज ने की विशेष व्यवस्था ।
हरदा /मसनगांव- व्यसनमुक्ति प्रणेता आचार्य प्रवर श्रीरामलालजी म सा के शिष्य सभी को अपनी आत्मा के तुल्य समझने वाले,स्वाध्याय सुधाकर  विनयमुनि म सा क्षेत्र के गौरव,मधुर व्याख्यानी मधुरमुनि म सा एवं तपस्वी,सेवाभावी  चिन्मयमुनि म सा आदि ठाणा 3 का  हरदा जैन स्थानक भवन से आज इंदौर दिशा की और विहार होगा ।  नगर में 8 माह 12 दिन तक मुनि भगवन्तो के सदसानिध्य में ज्ञान दर्शन चरित्र के साथ साथ धर्म ध्यान तप त्याग का जैन सामाज तथा गुरू भक्तो ने भरपूर लाभ लिया,  लगभग1वर्ष पूर्व फरवरी 2020 में ही नगर में आगमन हुआ था यंहा से विहार कर 5 दिन चारुबा,5 दिन कालधड़ होते हुए खिरकिया मे विराजित रहे जंहा माचॅ माह में लॉकडाउन लगने के कारण तीनों संतो ने 3 माह 19 दिन लगभग खिरकिया के समता भवन में धर्म ध्यान तप त्याग की खूब अभी वृद्धि हुई हरदा जिले में मा सा का लगभग 13 महीना विचरण हुआ क्षेत्र की श्रद्धाशील जनता ने भी समय-समय पर मुनि भक्तों के दर्शन सानिध्य प्रवचन साधना आराधन का समय समय पर खूव लाभ लिया। रविवार को 8:15 बजे अतरसमा के लिए बिहार कर इंदौर की और रवाना होंगे ,संतो कि विदाई के वेला मे   कई श्रावक श्राविका एवं गुरुभक्तों ने शनिवार को अपने भाव की प्रस्तुति दी जिसमें मुख्य रुप से नागपुर के राजेन्द्र बैध, कालधड़ के दुर्गा प्रसाद मुछाला, राजकुमार बाफना,मनोज चपलोद,छाया बनवट,चेतन शर्मा,रतनकिशोर अग्रवाल,नटवर सिसोदिया आदि 22 लोगो ने अभिव्यक्ति दी,पंकजी बाफना से संचालन किया तत्पश्चात श्री विनय मुनि जी मा सा ने कहा कि संतों की कभी विदाई नहीं होती कल हमारे यहां से जाने के पश्चात भी आप लोगों के द्वारा इस स्थान पर तप त्याग धर्म ध्यान आराधना साधना का क्रम निरावाध गति से प्रवर्धमान रहे यही जिनशासन के प्रति आप सभी की सच्ची श्रद्धा समर्पणा रहेगी वैसे तो हरदा संघ एवं क्षेत्र श्रद्धा भावना वाला भक्ति वाला संघ है आप सभी की देव गुरु एवं धर्म के प्रति जो श्रद्धा और समर्पणा है वह अद्वितीय है ।म सा के दर्श सानिध्य का लाभ लेने खिरकिया श्वेतांबर जैन संघ के आधा सैकड़ा श्रावक श्राविकाए के अलावा समता महिला मंड़ल के पदाधिकारियों के अलावा सदस्याए भी उपस्थित रही साथ ही ग्राम कालधड़ के बालक बालिकाओ के अलावा भी गुरुभक्त एवं चारुवा सभी गुरुभक्त उपस्थित थे।
[6/3, 18:04] +91 99939 90827: अनिल दीपावरे की रिपोटॅ