प्रदेश सरकार की नीति से दिवाकर सिंह की सहकारी समितियो में बढी साख "कहानी सच्ची है"

 


प्रदेश सरकार की नीति से दिवाकर सिंह की सहकारी समितियो में बढी साख "कहानी सच्ची है"
-
उमरिया | 18-दिसम्बर
   प्रदेश सरकार की नीतियो की बदौलत अब किसानो को आसानी से फसल ऋण प्राप्त हो रहे है। खलेसर निवासी दिवाकर सिंह चंदेल पिता रूक्मण लाल सिंह ने बताया कि सहकारी समिति उमरिया द्वारा उन्हें 56 हजार रूपये का किसान क्रेडिट कार्ड जारी किया गया है। क्रेडिट कार्ड के माध्यम से रबी एवं खरीफ फसल में समय पर खाद, बीज तथा कीटनाशको एवं अन्य आवश्यकताओं की पूर्ति करने में सक्षम हुए है।
    दिवाकर सिंह ने बताया कि खेती के कार्य में समय का बहुत अधिक महत्व है। यदि समय पर बुवाई, कटाई नही हुई तो उत्पादन कम मिलता है। उन्होने कहा कि जीवन में कई बार ऐसे अवसर आए जब पैसो के आभाव के कारण खेती संबंधी जरूरतों को पूरा नही कर सके। अब प्रदेश सरकार द्वारा किसान क्रेडिट कार्ड उपलब्ध करा दिया गया है। जिसकी साख सीमा 56 हजार रूपये हैं।
    मैं आवश्यकतानुसार सहकारी समिति के माध्यम से खेती के लिए केसीसी से राशि प्राप्त करता हूं तथा फसल आते ही ऋण भी चुका देता हूं। जिससे हमारी सहकारी समिति में साख बढ गई है। आपने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के प्रारंभ होने से खेती में नुकसान का खतरा समाप्त हो गया है अब फसल खराब होने पर बीमा कंपनी द्वारा नुकसानी का भुगतान किया जाता है। साथ ही केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत प्रत्येक वर्ष 6 हजार रूपये की राशि हमारे खाते में भेजी जाती है।  उन्होने कहा कि उत्पादित अनाज का सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर खरीदी करने से फसल विक्रय की भी समस्यां का निराकरण हो गया है। प्रदेश सरकार एवं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह द्वारा किसान हितैषी निर्णयों एवं उनके क्रियान्वयन के लिए उन्होने आभार व्यक्त किया।