जिले में स्वसहायता समूह होगें आत्म निर्भर
-
नीमच | 17-दिसम्बर

   जिले में मनरेगा योजनान्तर्गत निर्मित गौशालाओं के संचालन की जिम्मेदारी महिला स्व-सहायता समूह को दी गयी हैं, महिला स्व सहायता समूह की सदस्यों को आत्म निर्भर अभियान के तहत गौशाला के साथ-साथ वर्मी कंपोस्ट से, खाद बनाने एवं गोबर की गौकाष्ट लकड़ी बनाने संबंधी एक दिवसीय प्रशिक्षण गुरूवार को मनरेगा अन्तर्गत निर्मित शासकीय नर्सरी बर्डिया ज.पं. मनासा में आयोजित किया गया।
   प्रशिक्षण में नीमच विकासखण्ड की भंवरासा, केलुखेड़ा, गिरदौड़ा एवं मनासा विकासखण्ड की कुण्डालिया, ग्राम पंचायत के स्व-सहायता समूह की महिला सदस्यों द्वारा प्रशिक्षण प्राप्त किया गया। प्रशिक्षण कृषि विज्ञान के मॉस्टर ट्रेनर्स एवं उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों द्वारा प्रदान किया गया।
   इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्री आशीष सांगवान ने प्रशिक्षण स्थल पर प्रशिक्षण प्राप्त करने वाली स्व-सहायता समूह की महिलाओं से गोपालन के साथ-साथ आजीविका के उपाय के तहत वर्मी कंपोस्ट खाद बनाकर विक्रय करने का आव्हान किया। साथ ही ग्रा.पं. गिरदौड़ा में लगनेवाली गौकाष्ट मशीन जिससे गाय के गोबर की लकड़ी बनेगी, के बारे में विस्तृत रूप से महिला स्व सहायता समूह को विस्‍तार से अवगत कराया गया।
    इस अवसर पर ग्रामीण यांत्रिकी सेवा के कार्यपालन यंत्री श्री आर.जी.गुप्‍ता, श्री राजेश पाटीदार परियोजना अधिकारी मनरेगा एवं जनपद पंचायत के अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।