शासकीय जमीन पर अवैध कॉलोनी काटने वालों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज

 

शासकीय जमीन पर अवैध कॉलोनी काटने वालों के विरूद्ध एफआईआर दर्ज
-


इन्दौर |
 
      कलेक्टर श्री मनीष सिंह के निर्देशन में जिला प्रशासन द्वारा शासकीय भूमि पर अवैध कॉलोनी काटने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध कार्रवाई का सिलसिला निरंतर जारी है। इसी क्रम में गत दिवस अहस्तांतरणीय भूमि पर अवैध कॉलोनी काटने के संबंध में गजराज पिता मानसिंह परमार, जगदीश, निर्भय पिता मानसिंह परमार निवासी नावदापंथ के विरूद्ध चंदननगर थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई।

      उल्लेखनीय है कि कलेक्टर श्री मनीष सिंह के समक्ष शिकायतकर्ता द्वारा गजराज पिता मानसिंह परमार, जगदीश, निर्भय पिता मानसिंह परमार निवासी नावदापंथ द्वारा शासकीय भूमि पर पर अवैध कब्जा कर मकान बनाने एवं पट्टे की भूमि को खुर्द बुर्द किये जाने की शिकायत जनसुनवाई के दौरान प्रस्तुत की गई थी। कलेक्टर श्री सिंह ने उक्त शिकायत पर त्वरित कार्रवाई करते हुये एसडीएम श्री प्रतुल सिन्हा को जांच के आदेश दिये। आदेशों के अनुपालन में उक्त भूमि का हल्का पटवारी से जांच प्रतिवेदन लिया गया। एसडीएम श्री प्रतुल सिन्हा द्वारा बताया गया कि पटवारी के द्वारा प्रतिवेदन में बताया कि ग्राम नावदापथ स्थित भूमि खसरा नंबर 234/5 रकबा 0.454 हेक्टेयर भूमि स्वामी जगदीश निर्भय गजराज पिता मानसिंह परमार के नाम से वर्तमान राजस्व रिकार्ड में दर्ज है। उक्त भूमि मिसल बंदोबस्त अनुसार शासकीय चरनोई की भूमि है जिस पर वर्तमान भूमि स्वामी को जीवन यापन करने के लिए तथा खेती करने के लिए पट्टा दिया गया था। प्रतिवेदन में बताया गया कि यह भूमि वर्तमान राजस्व रिकार्ड में आज भी अहस्तातरणीय दर्ज है। ग्राम नावदापथ निवासी गजराज पिता मानसिह के द्वारा उक्त भूमि पर खेती करके प्रयोजन से भिन्न तथा बिना कोई अनुमति के अवैध तरीके से कॉलोनी विकसित कर दी गई है तथा लोगों के द्वारा उक्त भूमि पर निर्माण भी करा दिया गया है। गजराज पिता मानसिंह के द्वारा यह कॉलोनी बिना किसी की अनुमति के अवैध तरीके से लोगों को नोटरी कराकर बेची गई है। उक्त भूमि को लगभग 33 प्लॉट के अंतर्गत अलग-अलग क्षेत्रफल के अनुसार प्लॉटिंग की गई है। जिसमें से लगभग 20 मकान बन चुके है और लोग निवास कर रहे है।

      जांच में यह तथ्य पाया गया कि पट्टेधारियों के द्वारा शासकीय भूमि खुर्द बुर्द करने की कार्यवाही की गई है। भूखण्डों का अवैध विक्रय किया गया है। गजराज पिता मानसिंह परमार, जगदीश, निर्भय पिता मानसिंह परमार निवासी नावदापथ के द्वारा धोखाधडी करते हुए अवैध रूप से प्रवचना कर भूमि आवंटन कर शासन एवं अवैध आवंटन ग्रहिताओ से छल करते हुये धनराशि प्राप्त की गयी है। अतः उक्तानुसार संबंधित गजराज पिता मानसिंह परमार, जगदीश, निर्भय पिता मानसिंह परमार निवासी नावदापथ के विरूद्ध आई.पी.सी. की धारा 420, 406, 120 बी के अंतर्गत थाना चंदननगर में एफआईआर दर्ज कराई गई।

अजय जैन संभागी ब्यूरो चीफ की खास रिपोर्ट
 
Popular posts
कारखानों ,वेयरहाउस की छत के ऊपर गोल-गोल क्या घूमता रहता है
चित्र
शासकीय नर्मदा महाविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन का शुभारंभ किया गया वाणिज्य के क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं डॉ.ओ.एन.चौबे
पोटाची खळगी भरण्यासाठी रेल्वे गाड्यांमध्ये खेळणी विकणाऱ्या अथवा गायन, संगीत कला सादर करणाऱ्या वांगणी येथील सुमारे ४५० अंध बांधवांसोबत कार्य सम्राट सांसद डॉ शिंदे ने साजरी केली दिवाळी
चित्र
अवैध उत्खनन के विरुद्ध जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई,
पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता
चित्र