इतिहास करवट बदल रहा है - स्वतंत्रता के लिए लाखो देशवासियों ने दिया बलिदान-कुशवाह
इतिहास करवट बदल रहा है - स्वतंत्रता के लिए लाखो देशवासियों ने दिया बलिदान-कुशवाह 

बैतूल/सारनी। कैलाश पाटील

सतपुड़ा सरस्वती शिक्षा समिति के तत्वावधान में  स्वाधीनता का अमृत महोत्सव कार्यक्रम विधालय परिसर में आयोजित किया गया । कार्यक्रम के शुरुआत में तुलसी पूजन कर भारत माता एवं पं मदनमोहन मालवीय के छायाचित्र पर पुष्प अर्पित कर दीप प्रज्वलित अतिथियो द्वारा किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे  सतपुड़ा सरस्वती शिक्षा समिति के अध्यक्ष अंबादास सूने स्वाधीनता के अमृत महोत्सव की भूमिका रखते हुए बताया कि हमारा गौरवशाली इतिहास रहा है। नालंदा एवं तक्षशिला जैसे विश्व विद्यालय भारत में रहें हैं।  आक्रांताओ ने नालंदा विश्वविद्यालय के पुस्तकालय को जलाकर राख कर दिया, यह आग छ:माह तक बुझ नहीं पाई। इससे पता चलता है कि हमारा ज्ञान का भंडार कितना था। मुख्य वक्ता संस्कार भारती मध्य भारत प्रांत के सह महामंत्री मोतीलाल कुशवाह ने बताया कि देश को स्वतंत्र कराने के लिए लाखो देशवासियों अपना बलिदान दिया है। इतिहास करवट बदल रहा है। हम बड़ी बड़ी घटनाएं याद रखते हैं । नासा के वैज्ञानिकों ने  भारत के वेद, पुराणों पर शोध कार्य करने के लिए भारत से मांग की। पुष्पक विमान रामायण काल में था, विमान मे मिश्र धातु का प्रयोग किया जाता है । इससे हमारी संस्कृति, वैज्ञानिक दृष्टिकोण का आकलन होता है। भारत विश्व गुरु रहा है। हमे  स्वतंत्रता मिली लेकिन " स्व" को महत्व नहीं मिला। आज हमे जो इतिहास पढाया जाता है वह पश्चिम के देशों के तथाकथित आधुनिक बुध्दिजीवियों और इतिहासकारों ने षडयंत्र पूर्वक लिखा है। हमे भारत को पुनः विश्व गुरु बनाने के लिए सामुहिक रूप से राष्ट्र हित में कार्य करने की आवश्यकता है। इस अवसर पर संस्कार भारती बैतुल जिले के अध्यक्ष श्याम राव महसकी, योगेन्द्र ठाकुर, हरिओम कुशवाहा, एलआर धोटे, लखन भारके, धर्मेन्द्र वर्मा, सुभाष देशमुख, प्रताप सिंह राजपूत,सतीश कुमार,यश कुशवाह एवं विधालय परिवार सहित आमंत्रित गणमान्य लोग उपस्थित थे । कार्यक्रम का कुशल संचालन अनीता कोसे ने किया और आभार नगर पालिका संघ जिला बैतुल के महामंत्री हरिओम कुशवाहा ने किया ।
Popular posts
कारखानों ,वेयरहाउस की छत के ऊपर गोल-गोल क्या घूमता रहता है
चित्र
शासकीय नर्मदा महाविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन का शुभारंभ किया गया वाणिज्य के क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं डॉ.ओ.एन.चौबे
पोटाची खळगी भरण्यासाठी रेल्वे गाड्यांमध्ये खेळणी विकणाऱ्या अथवा गायन, संगीत कला सादर करणाऱ्या वांगणी येथील सुमारे ४५० अंध बांधवांसोबत कार्य सम्राट सांसद डॉ शिंदे ने साजरी केली दिवाळी
चित्र
अवैध उत्खनन के विरुद्ध जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई,
पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता
चित्र