आयुक्त कुमाऊं मंडल ने दिये मंडल के अधिकारियों को निर्देश।

 आयुक्त कुमाऊं मंडल ने दिये मंडल के अधिकारियों को निर्देश।


रिपोर्ट ललित जोशी छायाकार धर्मा चन्देल।

नैनीतल ।  आयुक्त कुमाऊं मंडल  सुशील कुमार  ने  कहा वर्षाकाल चल रहा है इसलिए सभी अधिकारी सजग होकर कार्य करें तथा अपने-अपने क्षेत्रों मे पैनी नजर रखें व सभी उपलब्ध संसाधनों को अलर्ट मोड पर रखें। यह निर्देश  सुशील कुमार ने मण्डल के अधिकारियों को वीडियो क्राफ्रेसिग के माध्यम से दिये। उन्होने कहा कि अधिकारी अलर्ट मोड पर रहें ताकि किसी प्रकार की आपदा होने पर त्वरित राहत  व बचाव कार्य किया जा सके। आयुक्त ने मण्डल के जिलाधिकारियों व अन्य अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे उपलब्ध संसाधनों को अलर्ट मोड पर रखें तथा नियमित क्षेत्रों का भ्रमण करें। उन्होने कहा कि आपदा में धनराशि की जरूरत हो तो मांग करे ताकि आपदा क्षेत्रों मे सहायता राशि वितरण व आपदा बचाव कार्य त्वरित गति से हो सके। उन्होने कहा कि आपदा दौरान क्षेत्र के परिवारों को विस्थापित करने हेतु चयनित स्थानों में मूलभूत सुविधायें खाद्यान, दवायें, टैन्ट,विद्युत, पानी आदि तैयार रखे जांए। संचार, सडक मार्ग, खाद्यान एवं दवा भण्डारण रखा जाए ताकि आपदा के दौरान त्वरित कार्यवाही एवं बचाव व राहत कार्य हो सके। 


आयुक्त सुशील कुमार ने मण्डल के सभी जिलाधिकारियो व अन्य अधिकारियों को निर्देश दिये कि आपदा सम्भावित क्षेत्रों मे पर्याप्त खाद्यान, दवा भण्डारण के साथ ही अन्य आवश्यक वस्तुयें रखने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि चिकित्सा टीमें व संचार हेतु सैटेलाइट फोन, आपदा उपकरण तैनात रखे जांए। उन्होने कहा कि आवगमन सुचारू हो इसलिए बन्द सडकों को जल्द खोला जाए इस हेतु सडकों के छोरों पर जेसीबी, पोकलैंड आदि मशीनें तैनात रखी जांए। 

उन्होने गत दिनों  बादल फटने से पिथौरागढ के ग्राम जुम्मा तोक जामुनी व सिरोउडियार तोक में हुई आपदा को गम्भीरता से लेते हुये सभी अधिकारियों को अलर्ट मोड पर रहने के निर्देश दिये।