मीठे पानी की छबील लगाकर राहगीरों की प्यास बुझाई
मीठे पानी की छबील लगाकर राहगीरों की प्यास बुझाई
बराड़ा, 8 जुलाई, (जयबीर राणा थंबड़)। कई दिनों से आषाढ़ मास की प्रचंड गर्मी के बीच आज त्रिवेणी चौक के निकट बराड़ा दोसड़का मार्ग पर समाज सेवकों ने मीठे पानीकी छबील लगाकर राहगीरों की प्यास बुझाने का पुनीत कार्य किया। सामाजिक संगठन का कहना है कि हमारे ग्रंथों में किसी भी प्यासे की प्यास बुझाने का बड़ा महत्व बताया गया है। अतः मानव सेवा ही वास्तव में प्रभु की सच्ची सेवा है। जिसके चलते प्रत्येक वर्ष ग्रीष्मऋतु में समय-समय पर छबील का  आयोजन किया जाता है। छबील के संचालकों तथा स्वयं सेवकों ने प्रत्येक आते-जाते राहगीर को आग्रह पूर्वक रोक कर मीठा जल ग्रहण करने का विनम्र निवेदन किया तो, स्वयं सेवकों के सेवा भाव से प्रभावित राहगीरों ने प्रेम पूर्वक अनुरोध को स्वीकार कर अपने कंठ की प्यास बुझाई तथा संचालकों को आशीर्वचन कहे। दिनभर चली छबील के संचालन तथा सेवा के लिए गौरव बाजवा, सेंटी, राकेश, रोशन, बलराम,रामचंद्र, हरिप्रसाद, सूरज, विश्, दर्शन लाल तथा विशाल बाजवा आदि की सेवा एवं सहयोग विशेष रूप से सराहनीय रहा।