ऑक्सीजन प्लांट से बेड्स कनेक्टिविटी का माइक्रो प्लान तैयार करें: कलेक्टर
*ऑक्सीजन प्लांट से बेड्स कनेक्टिविटी का माइक्रो प्लान तैयार करें: कलेक्टर श्री धनंजय सिंह* 

 *आमजन के स्वास्थ्य से जुड़े मुद्दों पर कोताही ना बरतें* 

 *कलेक्टर श्री सिंह ने जिला अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट का किया औचक निरीक्षण* 

होशंगाबाद । कोरोना संक्रमण की संभावित भविष्य की चुनौतियों से तत्परता पूर्वक निपटने के लिए जिला प्रशासन द्वारा ठोस व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही है। कोविड उपचार के लिए जरूरी प्राणवायु की उपलब्धता में जिला आत्मनिर्भर बनने की दिशा में सतत अग्रसर है। कलेक्टर श्री धनंजय सिंह द्वारा जनसामान्य को स्वास्थ्य की उच्चतम संभव दशाएं उपलब्ध कराने के लिए स्वास्थ सुविधाओं का मैदानी स्तर तक विस्तार किया जा रहा है एवं इसकी सतत मॉनिटरिंग की जा रही है।     
          इसी क्रम में कलेक्टर श्री सिंह द्वारा सोमवार 12 जुलाई को जिला चिकित्सालय में स्थापित किए जा रहे हैं 750 एलपीएम क्षमता की ऑक्सीजन  प्लांट एवं प्रगतिरत 1000 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण किया गया। कलेक्टर श्री सिंह ने ऑक्सीजन मशीन से लेकर चिकित्सालय में बिस्तरों तक ऑक्सीजन सप्लाई की पूरी प्रक्रिया का जायजा लिया। बताया गया कि 750 एलपीएम की ऑक्सीजन मशीन के इंस्टॉलेशन का कार्य लगभग पूर्ण हो गया है। कलेक्टर ने मशीन के संचालन के निर्धारित प्रोटोकॉल अनुरूप तीन दिन में ड्राय रन ( पूर्वाभ्यास) करने के निर्देश सिविल सर्जन एवं उप यंत्री जिला चिकित्सालय को दिए। उन्होंने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कार्यपालन यंत्री से दूरभाष पर चर्चा कर उन्हें ऑक्सीजन प्लांट से डीसीएचसी तक पाइपलाइन से ऑक्सीजन कनेक्टिविटी के कार्य की गंभीरता से समीक्षा करने एवं कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए।
     इसके बाद कलेक्टर श्री सिंह ने ऑक्सीजन प्लांट से डीसीएचसी तक बिछाई गई पाइपलाइन का भी अवलोकन किया। उन्होंने प्लांट से बेड्स कनेक्टिविटी का माइक्रो प्लान तैयार कर कार्य करने के निर्देश एसडीएम होशंगाबाद , सीएमएचओ, सिविल सर्जन एवं उपयंत्री एनएचएम को दिए। उन्होंने सख्त निर्देश दिए कि आमजन स्वास्थ्य से जुड़े मुद्दों पर किसी भी स्तर पर कोताही न बरती जाए। उन्होंने चिकित्सालय में ही निर्माण एजेंसी एनएचएआई द्वारा बनाए जा रहे हैं 1000 एलपीएम क्षमता के ऑक्सीजन प्लांट का भी निरीक्षण किया और  कार्य तेजी से पूर्ण करने के निर्देश दिए।
इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर दिनेश कौशल, सिविल सर्जन जिला चिकित्सालय डॉक्टर दिनेश देहलवार, डीपीएम श्री दीपक डेहरिया , उपयंत्री जिला चिकित्सालय श्रीमती मयूरी जैन आदि अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहें।