कोरोना महामारी में जीवन दान के तौर पर उभर रही है रक्तकोष मित्र मंडल सेवा संस्थान
*कोरोना महामारी में जीवन दान के तौर पर उभर रही है रक्तकोष मित्र मंडल सेवा संस्थान*


बाड़मेर से वागाराम बोस की रिपोर्ट 
 
परेऊ /बालोतरा व बायतु उपखंड में कोरोना काल की भयंकर महामारी में जरूरतमंद मरीजों को प्लाज्मा व ब्लड की हर कमी को पूरी करने में रक्तकोष मित्र मंडल सेवा संस्थान द्वारा दिन रात 24 घंटो सेवा में तत्पर रहते हैं।संस्थान कोषाध्यक्ष मोहम्मद रमजान ने बताया कि कोरोना काल मे संस्थान द्वारा प्रतिदिन 8-9 यूनिट संस्थान ब्लड की जरूरत को पूरी करने में लगे हुए है। कोरोना काल की भयंकर महामारी में संस्थान का हर सदस्य मानव सेवा में तत्पर रहते हैं।टीम सदस्य राजुराम गोल ने बताया कि कोरोना की विकट परिस्थितियों में कोरोना रिकवर मरीजों ने प्लाज्मा डोनेट कर सैकड़ो मरीजों को जीवन दान दिया।अहमदाबाद,जयपुर,दिल्ली एवं जोधपुर संभाग सहित कई अस्पताल में निरंतर सेवाए दे रहे है।इस सेवा में संस्थान अध्यक्ष दिनेश प्रजापत,सचिव रावत राजा बौद्ध  ब्लॉक प्रभारी पंकज डाभी,उपाध्यक्ष सलीम खिलेरी,सदस्य घेवरचंद,नरपतसिंह उमरलाई सहित हजारों कार्यकर्ता हमेशा सोशल मीडिया पर मिली जानकारी पर तुरन्त मरीज के परिजनों से बात कर उनकी जरूरत के लिए तत्पर है।संस्थान अध्यक्ष दिनेश प्रजापत ने अपील के माध्यम से युवाओ को बताया कि 18-45 के बीच युवाओं को लगने वाली वैक्सीन से पहले रक्तदान जरूर करें ताकि आगामी 2 माह में ब्लड की खपत को देखते हुए अधिक से अधिक रक्तदान की अपील की है।दरअसल रक्तकोष मित्र मंडल सेवा संस्थान ने बालोतरा में हर समय ब्लड बैंक की जरूरत के अनुसार युवाओ को प्रेरित कर रक्तदान शिविर का भी आयोजन करते है।पिछले 4 माह में 4 शिविरो का भी आयोजन संस्थान द्वारा किया गया जिसमें 100-150 यूनिट ब्लड स्टॉक भी किया था।और हर जरूरतमंद के लिए हमेशा तत्पर रहते है।कोरोना काल मे योद्धाओं के रूप में अपनी निस्वार्थ भाव की सेवाएं  हमेशा देते रहते है।नाहटा ब्लड बैंक टेक्नीशियन प्रदीप कुमार राव ने बताया कि जब भी नाहटा ब्लड बैंक में ब्लड स्टॉक कम होने पर रक्तकोष मित्र मंडल सेवा संस्थान को अवगत करवाया जाता हैं तो तुरंत शिविर या रक्तदाता के माध्यम से जरूरमंद की सेवा में तैयार रहते है।