कोरोना की दूसरी लहर की भयावहता कम करने को युद्धस्तर पर होगा टीकाकरण
*कोरोना की दूसरी लहर की भयावहता कम करने को युद्धस्तर पर होगा टीकाकरण*

*संक्रमण रोकथाम को गाइडलाइन की होगी अक्षरशः पालना*

वागाराम बोस की रिपोर्ट

बाड़मेर, 07 अप्रेल। कोरोना की दूसरी लहर की भयावहता के मद्देनजर जिले में युद्ध स्तर पर टीकाकरण किया जाएगा। साथ कोविड प्रोटकोल की भी अक्षरशः पालना करवाई जाएगी। जिला कलक्टर विश्राम मीणा ने बुधवार को कोविड वैक्सीनेशन के साथ-साथ सक्रमण रोकथाम की विस्तृत समीक्षा की।
इस मौके पर जिला कलक्टर ने बताया कि जिले में कोरोना की दूसरी लहर के अंतर्गत संक्रमण में बढ़ोतरी हो रही है जो कि सबके लिए चिंताजनक है। उन्होंने संक्रमण की रोकथाम के लिए सैम्पलिंग बढ़ाने के निर्देश देते हुए जिले में प्रतिदिन 2500 सेम्पल लेने को कहा। उन्होंने जिले में प्रवेश करने वाले सभी मार्गो पर चेक पोस्ट पर चौकसी बरतने को कहा एवं अन्य राज्यों से प्रवेश करने वाले सभी लोगों की आरटीपीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य रूप से जांचने एवं सैंपल लेने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि पूरे जिले में रात्रि 8 बजे से प्रातः 6 बजे के दौरान कर्फ्यू लागू है, इसकी कड़ाई से पालना करवाते हुए कोरोना की गाइडलाइन की पूर्णतः पालना करवाने के निर्देश दिए। साथ ही बाजारों में भीड़-भाड़ वाले स्थानों पर सख्ती बढ़ाने के साथ-साथ बिना मास्क वाले लोगों पर कार्यवाही को कहा। साथ ही दुकानों पर ‘नो मास्क-नो सर्विस’ को सख्ती से लागू करवाने तथा बिना मास्क वाले ग्राहकों को सामान बेचने वाले दुकानदारों पर कड़ी कार्यवाही के साथ-साथ उनकी दुकान को सीज करने करने को कहा। 
उन्होंने सभी राजकीय एवं निजी कार्यालयों पर करोना प्रोटोकॉल का पूरी कड़ाई से लागू करने एवं नो मास्क-नो एंट्री पर प्रभावी कार्यवाही की हिदायत दी। इस मौके पर जिला कलक्टर ने कहा कि कोरोना से जिले को बचाने का एकमात्र उपाय टीकाकरण ही है, इसलिए जिले में युद्ध स्तर पर कोविड वैक्सीनेशन किया जाए। उन्होंने बताया कि 1 अप्रेल से 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों के लिए टीका लगाया जा सकता है, इसलिए जिले में 45 प्लस टीकाकरण के लिए दिन-रात एक कर कार्य करने की आवश्यकता है। उन्होंने माइक्रो प्लानिंग के जरिए 45 प्लस आबादी को टीकाकरण की कार्ययोजना बनाने को कहा।
उन्होंने उपखंड अधिकारियों को समग्र दायित्व सौपते हुए निर्देशित किया कि वे अपने क्षेत्र में अधिकतम टीकाकरण के लिए एक सप्ताह का पूर्व निर्धारित कार्यक्रम तैयार कर चिकित्सा विभाग को सौंपने के निर्देश दें ताकि उसके अनुरूप सेशन साइट खोली जाकर आवश्यकतानुसार दवाई उपलब्ध कराई जा सके। उन्होंने कहा कि सप्ताह के सातों दिन टिका लगवाने के साथ-साथ रविवार को टीकाकरण के लिए मेगा कैंप आयोजित किए जाए।
    उन्होंने बताया कि बाड़मेर एवं बालोतरा नगरीय क्षेत्रों में वार्डवार एंटी कोविड टीमों का गठन किया जाए जो कि करोना जागरूकता के साथ-साथ प्रोटकोल की पालना एवं टीकाकरण को लोगों को प्रोत्साहित करने का कार्य करें। बैठक में मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू, उपखण्ड अधिकारी रोहित चौहान, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.बी.एल.बिश्नोई समेत जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहें।