सारणी नगर पालिका में लोक निर्माण कार्य में धांधली
सारणी नगर पालिका में  लोक निर्माण कार्य में धांधली सारणी नगर पालिका में आए दिन कुछ ना कुछ घटिया काम को लेकर रस्साकशी होती रहती है वार्ड नंबर 29 के पार्षद संतोष देशमुख के द्वारा दिए गए बयान के अनुसार 29 नंबर वार्ड में हो रहे सड़क निर्माण कार्य में जमकर धांधली हो रही है जो कि यह निर्माण कार्य भाजपा के पूर्व मंडल अध्यक्ष सुधा चंद्रा ने ठेका लिया है और उन्होंने इस ठेके को पेटी कॉन्ट्रैक्ट पर सुभाष और भोला कांति को ठेका दे दिया है लेकिन बात यह है कि यह ठेका नगरपालिका के नियमानुसार स्टेटमेंट के आधार पर लागत लगभग 18 लाख रुपए है और मंडल अध्यक्ष सुधा चंद्रा ने पेटी कांट्रेक्टर  को 1000000 में ही ठेका दे दिया अब बात यह रही कि क्या अट्ठारह लाख की सड़क 1000000 रुपए में बन पाएगी और बन पाएगी तो ठेकेदार इस सड़क को कैसे बनाएगा यही लापरवाही जब सामने आए तो पाया गया कि खराब सीमेंट और खराब रेट और खराब मटेरियल और नगर पालिका स्टेटमेंट से हटकर सड़क निर्माण में मिलावट का काम हो रहा है और इस  हिसाब से जो क्वांटिटी और क्वालिटी होनी चाहिए वह बिल्कुल भी नहीं नजर आती है यही सब बातों को लेकर पार्षद ने नगर पालिका के सीएमओ सी के मेश्राम के पास पत्र लिखकर ज्ञापन दिया फिर भी इन नेताओं और ठेकेदारों को समझ न आई इन्होंने उनकी बातों को भी नकार कर काम चालू रखा फिर दोबारा इनसे सही क्वांटिटी और क्वालिटी के लिए कहां गया तब नगर पालिका इंजीनियर मीणा साहब और ठेकेदार सुधा चंद्रा और उनके साथियों ने मिलकर पार्षद को समझाने की कोशिश की मगर पार्षद का सिर्फ एक ही कहना था कि काम क्वांटिटी और क्वालिटी मे बिल्कुल भी स्टेटमेंट से फर्क नहीं होना चाहिए बस यही बात को लेकर  नेताओं और ठेकेदारों ने मिलकर पार्षद संतोष देशमुख पर ₹200000 मांगने का कलंक भी उन पर लगा दिया गया तब पार्षद ने   बैतुल जिला कलेक्टर को शिकायत पत्र के द्वारा दिया गया इस पत्र में नेता और ठेकेदारों के सारे काले कारनामों का बयान लिखकर सौंपा गया और कलेक्टर महोदय से यह गुहार लगाई किअतिशीघ्र जांच दल भिजवा कर लोक निर्माण कार्य में गड़बड़ी जो कि 29 नंबर वार्ड में हो रही है इस कार्य का जायजा लेकर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए और साथ में जो नगर पालिका के उच्च अधिकारी की मिलीभगत से या कार्य घटिया किया जा रहा है उन अधिकारियों पर भी जमकर नकेल कसी जाए ताकि वार्ड वासियों को कई सालों तक इस रोड का लाभ उठा पाए और मेरे नाम से जो ₹200000 का कलंक लगाया गया है उस पर भी उचित कार्रवाई कर मुझे इस कलंक से निजात दिलाएं और दी गई सारी टिप्पणियां सही है और वीडियो रिकॉर्डिंग के साथ जो कि उस घटिया निर्माण कार्य का उल्लेख करती है और इन नेता और ठेकेदारों ने मिलकर मुझ पर जो इल्जाम लगाया गया है उस पर भी उक्त कार्रवाई करके मुझे भी कलंक से निजात दिलाएं और इन ठेकेदारों को और नेताओं को सबक सिखाएं ताकि आने वाले और नए लोक निर्माण कार्य में कोई भी ठेकेदार और नेता ईमानदारी से काम करें
रिपोटर्र मनोज पवांर