गरीबों का मजाक उड़ा रही है भाजपा सरकार: विभा पटेलराशन दुकानों पर नहीं मिला रहा है राशन, गेहूं की जगह बांट रहे बाजरा
गरीबों का मजाक उड़ा रही है भाजपा सरकार: विभा पटेल
राशन दुकानों पर नहीं मिला रहा है राशन, गेहूं की जगह बांट रहे बाजरा

भोपाल, प्रदेश कांग्रेस की प्रवक्ता पूर्व महापौर श्रीमती विभा पटेल ने भाजपा सरकार की गरीब विरोधी नीतियों पर सवाल उठाते हुए कहा कि प्रदेश की गरीब, मध्यम वर्ग की जनता के अधिकारों पर कुठाराघात किया जा रहा है।
श्रीमती पटेल ने कहा कि जहां प्रदेश की गरीब और मध्यम वर्ग की जनता कोरोना काॅल में महंगाई का दंश झेल रही है, मजदूरों को काम नहीं मिल रहा है, रोजी-रोटी को मोहताज हैं, रसोई गैस, पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। वहीं सरकार की गरीबविरोधी नीतियों के कारण प्रदेश की राशन की दुकानांे पर गरीबों को मिलने वाला राशन पूरी तरह से मिलना बंद हो गया है। राशन दुकानों पर जहां गेहूं, चावल, शक्कर, दाल, दलिया, खाने का तेल, मिट्टी का तेल मिलता था, वहीं अब केवल गेहूं दिया जा रहा है, वह भी जिस मात्रा में उपभोक्ता को मिलना चाहिए उसे वह पूरा नहीं दिया जा रहा है। गेहूं के एवज में गरीबों को बाजरा दिया जा रहा है। 
श्रीमती विभा पटेल ने कहा कि भाजपा सरकार चुनाव के समय गरीबों के साथ बड़े बडे़ वादे करती हैं, वहीं सरकार गरीबों का आज मजाक उड़ा रही है, गरीबों के पेट पर लात मारने का काम सरकार कर रही है। आज सरकार कटघरे में खड़ी हो गई है। 
श्रीमती पटेल ने राज्य सरकार से मांग की है कि वह गरीबों की पेट पर लात न मारे, गरीबों को राशन की दुकान पर मिलने वाला समस्त राशन गेहूं चावल, दाल, मिट्टी तेल, शक्कर, सभी सामना उपलब्ध कराये, ताकि गरीब जनता इस महंगाई के दौर में अपने परिवार का पालन-पोषण सही ढंग से कर सके।