मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना “मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना

 कौशाम्बी मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना “मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना” के अन्तर्गत बुधवार को जनपद के मंझनपुर, सरसवां, नेवादा एवं कड़ा विकास खण्डों में सामूहिक विवाह कार्यक्रम कोविड-19 का पालन करते आयोजित किया गया। प्रभारी मंत्री चन्द्रिका प्रसाद की उपस्थिति में विकास खण्ड मंझनपुर में सामूहिक विवाह कार्यक्रम संपन्न हुआ, जिसमें 10 जोड़े विवाह के बंधन में बधें। 



मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह कार्यक्रम सम्बन्धित धर्मो के रीति रिवाजों के अनुसार संपन्न हुआ। आयोजित कार्यक्रम में कार्यक्रम के मुख्य अतिथि जनपद के नामित प्रभारी मंत्री चन्द्रिका प्रसाद उपध्याय, भाजपा जिलाध्यक्ष श्रीमती अनीता त्रिपाठी जिलाधिकारी अमित कुमार सिह, पुलिस अधीक्षक अभिनन्दन, मुख्य विकास अधिकारी शशिकान्त त्रिपाठी सहित जनपद के अन्य अधिकारीगणों एवं अन्य जनप्रतिनिधियों ने विवाह मण्डप में उपस्थित जोड़ो को आर्शीवाद दिया एवं उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। आयोजित कार्यक्रम में बोलते हुए मुख्य अतिथि प्रभारी मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री की यह योजना गरीब एवं असहाय परिवारों के लिए वरदान साबित हो रही है।उन्होंने कहा कि केन्द्र एवं राज्य सरकार प्रतिक्षण गरीब एवं असहाय लोगों के साथ कन्धे से कन्धा मिलाकर खड़ी हुई है। उन्होंने कहा कि सरकार के द्वारा गरीबों के कल्याण के लिए अन्य योजनायें भी संचालित की जा रही है, जिससे गरीब और असहाय व्यक्ति लाभान्वित हो रहे है। उन्होने इस योजना के लिए मुख्यमंत्री की भूरि-भूरि प्रशंसा की, साथ ही साथ उन्होने जिला प्रशासन के द्वारा मुख्यमंत्री की मंशा के अनुरूप सामूहिक विवाह कार्यक्रम के भब्य आयोजन के लिए तारीफ करते हुए बधाई दी। इस अवसर पर प्रभारी मंत्री एवं भाजपा जिलाध्यक्षा ने प्रत्येक विवाहित जोड़े को मोबाइल फोन एवं मीठा उपहार स्वरूप भेंट किया।  


सामूहिक विवाह कार्यक्रम के अन्तर्गत विकास खण्ड मंझनपुर में 10 जोड़े, विकास खण्ड नेवादा में 10 जोड़े, विकास खण्ड सरसवां में 12 जोड़े एवं विकास खण्ड कड़ा में 10 जोडे़ विवाह के बन्धन में बधें। 

इस अवसर पर जिलाधिकारी अमित कुमार सिंह ने मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के बारे में मण्डप में उपस्थित लोगों को विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि इस योजना के अन्तर्गत विवाहित जोड़ों को दाम्पत्य जीवन में खुशहाली एवं गृहस्थी की स्थापना हेतु सहायता राशि के रूप में 35000 (पैतीस हजार) रूपये कन्या के खाते में अंतरित कर दी गयी हैं। उन्होंने कहा कि योजना के अन्तर्गत विवाहित जोड़ों को विवाह संस्कार हेतु आवश्यक सामग्री (कपडे़, विछिया, पायल, 07 वर्तन) हेतु 10000 (दस हजार) रूपये खर्च किये जाने का प्रावधान है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक विवाहित जोड़े पर शादी समारोह में 6000 (छः हजार) रूपये खर्च करने का प्रावधान है। जिलाधिकारी ने कहा कि इस कार्यक्रम के तहत एक जोड़े पर कुल 51000( इक्यावन हजार) रूपये खर्च किये जाने का प्रावधान है। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक अभिनन्दन, जिला समाज कल्याण अधिकारी सुधीर कुमार सहित जनपद के सभी अधिकारी एवं कर्मचारीगणों के अलावा भारी संख्या में जन सामान्य उपस्थित रहे।

एसीपी न्यूज़ चैनल कौशाम्बी से ब्यूरो चीफ पवन मिश्रा की रिपोर्ट