लखनऊ खण्ड स्नातक एवं शिक्षक के मतदान को निष्पक्ष एवं पारदर्शितापूर्ण सम्पन्न कराने हेतु जिलाधिकारी ने मास्टर ट्रेनरों को किया प्रशिक्षित

लखनऊ खण्ड स्नातक एवं शिक्षक के मतदान को निष्पक्ष एवं पारदर्शितापूर्ण सम्पन्न कराने हेतु जिलाधिकारी ने मास्टर ट्रेनरों को किया प्रशिक्षित
उत्तर प्रदेश राज्य विधान परिषद के लखनऊ खण्ड स्नातक एवं शिक्षक निर्वाचन-2020 के मतदान दिनांक 01 दिसम्बर 2020 को स्वतंत्र, निष्पक्ष, पारदर्शितापूर्ण सम्पन्न कराने हेतु आज अफीम कोठी के सभागार में जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार की अध्यक्षता में मास्टर ट्रेनरों का प्रशिक्षण सम्पन्न हुआ। प्रशिक्षण में जिलाधिकारी ने बताया है कि लखनऊ खण्ड स्नातक एवं शिक्षक का मतदान प्रातः 8 बजे से सायंकाल 5 बजे तक जनपद के 62 पोलिंग स्टेशनों पर सम्पन्न होगा। मतदान कार्मिकों के प्रथम चरण का प्रशिक्षण दिनांक 21 नवम्बर तथा द्वितीय प्रशिक्षण दिनांक 26 नवम्बर को राजकीय इण्टर कालेज में पूर्वान्ह 11 बजे से अपरान्ह 1 बजे तक होगा। उन्होने बताया है कि स्नातक निर्वाचन के लिये सफेद रंग का और शिक्षक निर्वाचन के लिये गुलाबी रंग के मतपत्रों का प्रयोग होगा तथा स्नातक निर्वाचन के लिये मतदाता के बाये हाथ की तर्जनी उंगली पर एवं शिक्षक निर्वाचन के लिये मतदाता के बायें हाथ की  मध्यमा उंगली पर अमिट स्याही का निशान लगाया जायेगा। पोलिंग पार्टियों की रवानगी दिनांक 30 नवम्बर को पूर्वान्ह 10 बजे राजकीय इण्टर कालेज प्रतापगढ़ से होगी और यहीं पर बैलेट बॉक्स भी जमा होगें। मतदाता अपने पसंद के उम्मीदवार के नाम के सामने बैगनी रंग के स्केच पेन से एक, दो, तीन या चार अंकों में अंकित करेगा। प्रशिक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने मास्टर ट्रेनरों प्रशिक्षित करते हुये कहा कि मतपेटिका को सील करना एवं मतदान की तैयारी करते समय सभी अभिकर्ताओं को प्राप्त मतपत्रों का पहला और अन्तिम क्रमांक दिखा दें, साथ ही निर्वाचक नामावली के प्रतियां भी अवलोकित करा दें एवं सभी उपस्थित अभिकर्ताओं एवं अभ्यर्थियों को मतपेटिका खोलकर इस आशय से दिखा दे कि अन्दर कुछ भी नही है। मतदान के पूर्व घोषणा प्रपत्र भरकर उपस्थित अभिकर्ताओं एवं अभ्यर्थियों से निर्धारित जगह पर हस्ताक्षर कराये। मतदान अभिकर्ताओं के बैठने की व्यवस्था बताये गये क्रम में इस प्रकार करें कि मतदान की गोपनीयता भंग न हो। ये सभी कार्यवाहियां इस प्रकार से करें कि समय से मतदान प्रारम्भ होने में किसी भी प्रकार का व्यवधान व विलम्ब न हो। मतदान समाप्त होने के पूर्व पीठासीन अधिकारी इस बात को सुनिश्चित कर लें कि परिसर में उपस्थित सभी मतदाता मतदान कर सके। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने सभी मास्टर ट्रेनर्स के साथ बैलेट बॉक्स को खोलने और बंद करने की प्रक्रिया को देखा और कहा कि सभी मास्टर ट्रेनर्स अच्छी तरह से ट्रेनिंग प्राप्त कर लें ताकि वह मतदान कार्मिकों को अच्छे से प्रशिक्षण दे सके। 
  इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अश्विनी कुमार पाण्डेय ने मास्टर ट्रेनरों से कहा कि इस चुनाव को हमें पूरी पारदर्शिता एवं निष्पक्षता के साथ कराना है। हमें जो महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गई है उसका निर्वहन हमें पूरी निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ करना होगा। इसलिये मास्टर ट्रेनर्स अच्छे से प्रशिक्षण प्राप्त करें ताकि मतदान कार्मिकों अच्छे से प्रशिक्षण दें। प्रशिक्षण में जिला विद्यालय निरीक्षक सर्वदानन्द, प्राचार्य अफीम कोठी शिव प्रकाश, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार सहित अन्य अधिकारी एवं मास्टर ट्रेनर उपस्थित रहे। प्रशिक्षण का संचालन मास्टर ट्रेनर मो0 अनीस द्वारा किया गया।