अभिभावक कल्याण संघ के जिलाध्यक्ष दशरथ चौधरी ने की सरकार से निशुल्क इंग्लिश मीडियम स्कूल खोलने की मांग,

होशंगाबाद- अभिभावक कल्याण संघ के जिलाध्यक्ष दशरथ चौधरी ने की सरकार से निशुल्क इंग्लिश मीडियम स्कूल खोलने की मांग,
मध्यप्रदेश उपचुनाव में जनप्रतिनिधि लाए अपने-अपने वचन पत्र एवं घोषणा पत्र मे बच्चों के लिए निशुल्क शिक्षा, जिलाध्यक्ष दशरथ चौधरी द्वारा बताया गया है कि प्राइवेट स्कूलों द्वारा लाखों रुपये कमाने के बाद भी इस कोरोना महामारी को देखते हुए किसी भी अभिभावक पर दया नहीं आई और जबरन दबाव बनाकर फीस वसूली की जा रही है 
जिससे प्रत्येक अभिभावक अत्यंत परेशान हैं जिसको लेकर दशरथ चौधरी द्वारा मुहिम चलाई गई थी जिसे शासन प्रशासन एवं प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन द्वारा 25 जनवरी 2018 का हवाला देते हुए तीसरे व्यक्ति को विरोध करने पर रोका जाने राजपत्र का हवाला देते हुए जिले में रोक लगाई गई जो कि अभिभावकों के लिए अत्यंत पीड़ित दायक रहा है। दशरथ चौधरी द्वारा यह भी बताया गया है कि आरटीई एक्ट नियम भी बंद करें जिससे कि जो पैसा प्राइवेट स्कूल को दिया जा रहा है वही पैसा सरकार स्वयं बचाए और वही पैसा सरकारी स्कूल में लगाए जिससे कि आर्थिक व्यवस्था भी नहीं लड़खड़ाएगी और किसी आरटीई के बच्चे का शोषण भी नहीं होगा और बार-बार फीस प्रतिभूति के लिए प्राइवेट स्कूल मांग भी नहीं करेगा सरकार आरटीई एक्ट बंद करें और स्वयं खुद सरकारी कक्षा नर्सरी से बारहवीं तक इंग्लिश मीडियम स्कूल खोलें। दशरथ चौधरी द्वारा बताया गया कि मध्य प्रदेश में उपचुनाव हो रहे हैं प्रत्येक अभिभावक अपनी मांग रखें अपने लिए नहीं अपने बच्चों के लिए रखें कि अब हमें निशुल्क शिक्षा चाहिए हमारे बच्चे अब प्राइवेट स्कूल में नहीं सरकारी स्कूल में पड़ेंगे निशुल्क पड़ेंगे नर्सरी से बारहवीं तक मध्य प्रदेश में इंग्लिश मीडियम स्कूल खोला जाए अगर मध्य प्रदेश सरकार मध्यप्रदेश में नर्सरी से बारहवीं तक इंग्लिश मीडियम स्कूल नहीं खोलती है तो अभिभावक कल्याण संघ पूरे मध्यप्रदेश में इसका विरोध करेगा।        प्रदीप गुप्ता की रिपोर्ट