युवक ने प्रेम प्रसंग में फंसा कर नाबालिक लड़की को लेकर फरार

 युवक ने प्रेम प्रसंग में फंसा कर नाबालिक लड़की को लेकर फरार



चायल चौकी के बाहर दोनो पक्षों में हुआ लाइव मारपीट


चायल कौशाम्बी पिपरी थाना क्षेत्र के चायल नगर पंचायत वार्ड न 1 में अजय पुत्र राजेश निवासी डीहा वार्ड 1 चायल ने एक युवक पर आरोप लगाया है की मेरी छोटी बहन को गांव के ही युवक ने उसे बहला फुसलाकर भगा ले गया है और धमकी भी दिया है की उसे बाहर ले जाकर बेंच डालेगा या जान से मार देगा।


चायल चौकी के बाहर दोनो पक्षों में जमकर मारपीट हुई लेकिन पुलिस प्रशासन बीच बचाओ के बजाय समझौता में लग गई। गौरतलब है दोनो पक्षों में कुछ अनहोनी होने के बाद पुलिस कार्यवाही करेगी


अजय का कहना मेरे माता-पिता दिनांक 20 दिसंबर 2021 को रात्रि में खेत में पानी लगा कर गेहूँ सीच रहे थे। जब सुबह 5 बजे के करीब अपने माता-पिता के साथ खेत से गेहूं सीच कर घर आया तो अपनी बड़ी बहन कोमल से आग जलाने तथा काजल को जगाने के लिए कहाँ तो कोमल आग जलाने के लिए लकड़ी लायी और काजल को आवाज दिया तो काजल नही आयी इस पर बड़ी बहन ने देखा तो काजल बिस्तर पर नही थी घर वालों को भी बताया तो दूढने लगे बाद में पता चला कि काजल को गांव के ही  बन्टू उर्फ गौतम (उम्र 14)  पुत्र मूलचन्द्र ने रवी व सबी पुत्रगण भारत व अजय पुत्र मरीदीन तथा राधा पुत्री छोटे व सुषमा पुत्री मत्थुर जो गाँव के है इनकी साजिस से काजल को बहला फुसलाकर भगा ले गया है। अजय ने बताया की काजल अभी नाबालिग है कई बार बन्टू उर्फ गौतम मेरी बहन काजल को छेड़ चुका है इस पर समझाया था परन्तु कह रहा था किसी दिन काजल को मैं उठा ले जाऊंगा बीती रात 20 दिसंबर 2021 के मध्य रात्रि के बाद लगभग 3 बजे भोर में उसे बहला फुसलाकर भगा ले गया मेरी बहन को यह कही जान से मार डालेगा या बेच डालेगा।

Popular posts
कारखानों ,वेयरहाउस की छत के ऊपर गोल-गोल क्या घूमता रहता है
चित्र
शासकीय नर्मदा महाविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन का शुभारंभ किया गया वाणिज्य के क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं डॉ.ओ.एन.चौबे
पोटाची खळगी भरण्यासाठी रेल्वे गाड्यांमध्ये खेळणी विकणाऱ्या अथवा गायन, संगीत कला सादर करणाऱ्या वांगणी येथील सुमारे ४५० अंध बांधवांसोबत कार्य सम्राट सांसद डॉ शिंदे ने साजरी केली दिवाळी
चित्र
अवैध उत्खनन के विरुद्ध जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई,
पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता
चित्र