नवांकुरों को मंच देने के लिए करवाते हैं कवियों का समागम: कैप्टन करैया
नवांकुरों को मंच देने के लिए करवाते हैं कवियों का समागम: कैप्टन करैया
: साहित्य को मंच देने से होगा रचनाओं में सुधार: कृषि मंत्री


हरदा। नवांकुर कवियों को मंच देने और उनकी रचनाओं में बेहतरी लाने के लिये विभिन्न स्थानों पर कवि समागम के आयोजन करवाये जा रहे हैं। यह मेरी छोटी सी कोशिश है। इसमे वरिष्ठ साहित्यकारों का सहयोग मिलने के कारण अब तक सफलता मिल रही है। यह बातें कार्यक्रम की प्रस्तावना बताते हुए कैप्टन करैया ने कही। 
वर्चुअली रूप से जबलपुर से जुड़े प्रदेश के कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि साहित्य को आज मंच मिल रहा है। जिसके कारण रचनाओं में सुधार होगा। नए लेखक कवियों के काव्य पाठ में और बेहतरी होगी।
शहर के वरिष्ठ साहित्यकार स्वर्गीय श्याम साकल्ले की पुण्य स्मृति में मध्यप्रदेश लेखक संघ जिला इकाई हरदा,नर्मदा आव्हान सेवा समिति होशंगाबाद व संस्कार विद्या पीठ हरदा के संयुक्त तत्वाधान में अखिल भारतीय कवि समागम एवं सम्मान समारोह का आयोजन हुआ। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में कृषि मंत्री कमल पटेल वर्चुअली उपस्थित रहे। विशिष्ठ अतिथि के रूप में प्रभुशंकर शुक्ल,  संदीप पटेल, पूर्व सांसद व साहित्यकार ओमपाल निडर, धूमकेतू  भोपाल, नवनीत पटेल, अशोक नेगी, कौशल सक्सेना, बाबू घायल, कवियत्री सरिता सिंघई बालाघाट, डॉ रानू रुही, ऋचा साकल्ले  उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ गीतकार उपपुलिस अधीक्षक मदन मोहन समर ने की। कवि समागम में पूना, दिल्ली, बाड़ी, बरेली, बैतूल,भोपाल, विदिशा, होशंगाबाद, इटारसी, हरदा, टिमरनी, सोहागपुर, पिपरिया, गाडरवाड़ा, जबलपुर आदि शहरों से लगभग 80 पंजीयन हुए और सभी ने कविता पाठ मंच से किया। नवांकुर कवियों को मंच प्रदान करने के उद्देश्य से कैप्टन किशोर करैया द्वारा जगह जगह इस प्रकार के आयोजन कराते आ रहे हैं। दो सत्र में सभी कवियों ने सभी रसों में रचनाएं सुनाई। दूसरे दौर में नगरपालिका अध्यक्ष  सुरेंद्र जैन , अनूप अग्रवाल, कमल अजमेरा, श्याम माहेश्वरी उपस्थित थे। सफल आयोजन में जयकृष्ण चांडक, श्याम शर्मा , शिरीष अग्रवाल, लोमेश गौर ,कपिल दुबे, बलराम काले, सावन सिटोके ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।
Popular posts
कारखानों ,वेयरहाउस की छत के ऊपर गोल-गोल क्या घूमता रहता है
चित्र
शासकीय नर्मदा महाविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन का शुभारंभ किया गया वाणिज्य के क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं डॉ.ओ.एन.चौबे
पोटाची खळगी भरण्यासाठी रेल्वे गाड्यांमध्ये खेळणी विकणाऱ्या अथवा गायन, संगीत कला सादर करणाऱ्या वांगणी येथील सुमारे ४५० अंध बांधवांसोबत कार्य सम्राट सांसद डॉ शिंदे ने साजरी केली दिवाळी
चित्र
अवैध उत्खनन के विरुद्ध जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई,
पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता
चित्र