श्मशान घाट में मृत पशु दफनाने से उपजा विवाद बीडीपीओ ने कराया मामला दर्ज

 श्मशान घाट में मृत पशु  दफनाने से उपजा विवाद

बीडीपीओ ने कराया मामला दर्ज



बराड़ा, (जयबीर राणा थंबड़)। श्मशान घाट की भूमि में मृत गाय को दफनाने का मामला इतना तूल पकड़ गया कि बीडीपीओ को सामने आकर आरोपियों के खिलाफ थाना में मामला दर्ज करवाना पड़ा। उपमंडल के गांव थंबड़ में श्मशान घाट में पशु दफनाने का मामला इतना तूल पकड़ गया कि इसका सामाजिक रुप से विरोध शुरू हुआ। गांव में उपजे विरोध पर संज्ञान लेते हुए खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी राजन सिंगला ने बराड़ा थाने में दो व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। बता दे 13 नवंबर को गांव थंबड़ के श्मशान घाट में मृत गाय को दफनाने का मामला प्रकाश में आया, जिस पर गांव के लोगों ने एकजुट होकर शव दफनाने वालों के खिलाफ रोष जताया और वही गांव के सरपंच की मौजूदगी में पंचायत भी हुई। गांव वासियों ने बताया कि पंचायत स्तर पर समझाने बुझाने के बाद भी मृतक पशुओं को गांव के श्मशान घाट में दफनाने वाले व्यक्ति नहीं माने तो गांव वासियों ने श्मशान में प्रदर्शन कर बीडीपीओ राजन सिंगला को शिकायत दी। इलाका वासियों का कहना है कि पशु को दफनाने का श्मशान घाट अलग होता है और 36 बिरादरी के श्मशान घाट में पशुओं को दफनाना सरासर गलत है जिससे लोगों की धार्मिक आस्था को ठेस पहुंचती है। बीडीपीओ राजन सिंगला ने इसकी शिकायत पुलिस को सौंप दी और दो व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया। पुलिस ने धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने व गांव की शांति को भंग करने पर सुभाष व काला के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। बराड़ा थाना प्रभारी शैलेंद्र सिंह ने बताया कि मामले की गंभीरता से जांच की जा रही है।


Popular posts
शासकीय नर्मदा महाविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन का शुभारंभ किया गया वाणिज्य के क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं डॉ.ओ.एन.चौबे
पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता
चित्र
पोटाची खळगी भरण्यासाठी रेल्वे गाड्यांमध्ये खेळणी विकणाऱ्या अथवा गायन, संगीत कला सादर करणाऱ्या वांगणी येथील सुमारे ४५० अंध बांधवांसोबत कार्य सम्राट सांसद डॉ शिंदे ने साजरी केली दिवाळी
चित्र
अवैध उत्खनन के विरुद्ध जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई,
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी देश के प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती सादगी से जिले भर में मनायी।
चित्र