जननायक टंट्या मामा की जन्मभूमि की पावन माटी लेकर गौरव यात्रा का शुभारंभ

 

जननायक टंट्या मामा की जन्मभूमि की पावन माटी लेकर गौरव यात्रा का शुभारंभ



’पातालपानी नवतीर्थ के रूप में विकसित होगा, विराजित होगी टंट्या मामा की विशाल प्रतिमा "आजादी का अमृत महोत्सव",शोषण एवं अन्याय के विरूद्ध चलाया जायेगा अभियान-मुख्यमंत्री श्री चौहान क्रांतिसूर्य जननायक टंट्या भील गौरव यात्रा 27 नवम्बर से 4 दिसम्बर, 2021 तक
खण्डवा | 
     आप सब म्हारा ऊपर विश्वास रांखो हंऊ छै। तुम्हारा साथ, उन बखत तुम्हारों मामों टंट्या मामों थों, न अभी हंऊ तुम्हारों मामों शिवराज मामों छें। कई बात कि चिंता मत करजो। ई यात्रा क्रांतिकारी जननायक टंट्या मामा की गौरव यात्रा छे। ऊ निर्माण निमाड़ का गौरव आय। ऊ मध्य प्रदेश का गौरव आय। ऊ पूरा देश का गौरव आय‘‘। क्रांतिसूर्य जननायक टंट्या भील की गौरव यात्रा के शुभारंभ अवसर पर मुख्य कार्यक्रम स्थल बड़ोदा अहिर में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने निमाड़ी में यह बातकही। विदित है कि जननायक क्रांतिसूर्य वीर टंट्या भील के शहीदी दिवस को प्रदेश सरकार द्वारा गौरव दिवस के रूप में मनाया जा रहा है।
’टंट्या मामा के वंशज का पुष्प गुच्छ से स्वागत’
   अपना उद्बोधन भारत माता एवं टंट्या मामा के जयघोष के साथ प्रारंभ करते हुए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि यह हमारे लिए गर्व का विषय है कि टंट्या मामा पूरे देश के लिए वंदनीय एवं पूज्यनीय है। उन्होंने क्रांतिसूर्य जननायक टंट्या मामा का यशगान करते हुए कहा कि टंट्या मामा ने शोषण एवं अन्याय के खिलाफ कार्य किया। उन्होंने अंग्रेजों से धन एवं अनाज को लूटकर भूखे एवं जरूरतमंदों के बीच में बांटा। इस क्रांतिवीर को हमारा नमन है। मंच पर आसीन टंट्या मामा के वंशज श्रीमति सोनीबाई जयसिंग, श्री वासुदेव सिरसाटे एवं श्री हेमराज सिरसाटे को मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पुष्प गुच्छ देकर स्वागत एवं अभिनंदन किया।
’पातालपानी नवतीर्थ के रूप में विकसित होगा, विराजित होगी टंट्या मामा की विशाल प्रतिमा’
    गौरव यात्रा के शुभारंभ अवसर पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने यह घोषणा की, कि पातालपानी को नवतीर्थ के रूप में विकसित कर वहां टंट्या मामा की विशाल प्रतिमा स्थापित की जायेगी। उन्होंने कहा कि पातालपानी रेल्वे स्टेशन का नाम टंट्या भील रेल्वे स्टेशन रखने हेतु केन्द्र सरकार को प्रस्ताव भेजा जायेगा। इंदौर स्थित भंवरकुंआ चौराहा का नाम टंट्या मामा चौराहा होगा तथा आईएसबीटी इंदौर बस स्टैण्ड का नाम भी टंट्या भील बस स्टैण्ड होगा।  
    मध्य प्रदेश की धरती पर सभी पात्र परिवार को जिनके पास रहने के लिए जमीन नहीं है उन्हें आवास बनाने के लिए प्लॉट दिया जायेगा। पहले प्लॉट और उसके बाद आवास बनाने के लिए सहायता की जायेगी। जिससे कि वे अपने पक्के आवास में रह सकें। शीघ्र ही 1 लाख सरकारी नौकरियां एवं बैकलॉग के रिक्त पदों को भरा जायेगा। आजीविका मिशन के तहत कार्य कर रहे समूहों को सरकार सस्ते ऋण उपलब्ध करायेगी। टोंटी वाले नल से हर घर पानी पहुंचाया जायेगा। आदिवासी वर्ग के जीवन स्तर को सुधार करने के लिए अभियान चलाया जायेगा। शोषण तथा अन्याय के विरूद्ध अभियान चलाकर गरीबों की जिदंगी बदलना मध्य प्रदेश सरकार का उद्देश्य है।
’पवित्र माटी का कलश लिये गौरव यात्रा गांव-गांव जायेगी’
   जननायक टंट्या मामा की जन्म स्थली बड़ोदा अहिर से पवित्र माटी का कलश लिये गौरव यात्रा गांव-गांव जायेगी। जहां कलशों पर फूलों की वर्षा होगी और टंट्या मामा के वंशजों का स्वागत   और  सम्मानकिया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान से सभी से आव्हान किया है कि  4 दिसम्बर को पातालपानी में गौरव यात्रा के समापन अवसर पर आप सभी पातालपानी आईये एवं क्रांतिसूर्य जननायक टंट्या मामा के चरणों में श्रद्धासुमन अर्पित कीजिए।
   इस अवसर पर वनमंत्री डॉ. कुँवर विजय शाह, लोकसभा सांसद श्री ज्ञानेश्वर पाटील और  श्री बी.डी.शर्मा, पंधाना विधायक श्री राम दांगोरे, खण्डवा विधायक श्री देवेन्द्र वर्मा, मांधाता विधायक श्री नारायण पटेल, इंदौर संभागायुक्त डॉ.पवन कुमार शर्मा, कलेक्टर श्री अनय द्विवेदी, पुलिस अधीक्षक सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Popular posts
कारखानों ,वेयरहाउस की छत के ऊपर गोल-गोल क्या घूमता रहता है
चित्र
शासकीय नर्मदा महाविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन का शुभारंभ किया गया वाणिज्य के क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं डॉ.ओ.एन.चौबे
पोटाची खळगी भरण्यासाठी रेल्वे गाड्यांमध्ये खेळणी विकणाऱ्या अथवा गायन, संगीत कला सादर करणाऱ्या वांगणी येथील सुमारे ४५० अंध बांधवांसोबत कार्य सम्राट सांसद डॉ शिंदे ने साजरी केली दिवाळी
चित्र
अवैध उत्खनन के विरुद्ध जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई,
पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता
चित्र