हाईकोर्ट में लगी है याचिका फिर भी गुपचुप तरीके से संपत्ति खुर्द खुर्द की तैयारी मुकेश गांधी
हाईकोर्ट में लगी है याचिका फिर भी गुपचुप तरीके से संपत्ति खुर्द खुर्द की तैयारी मुकेश गांधी
सूचना के अधिकार में कहा नीलामी प्रक्रिया लंबित किसी को  फाइनल नही की है रेस्ट हाउस की बोली
 इटारसी सुनियोजित षड्यंत्र के तहत अरबों की संपत्ति कौड़ियों के दाम बेचे जाने संबंधी बहुचर्चित रेस्ट हाउस मामले में आज गुपचुप तरीके से नपाई की जा रही है, और यह संपत्ति को खुर्द खुर्द करने की पूर्व तैयारी है उक्त आरोप याचिकाकर्ता मुकेश गांधी ने शासन पर लगायाहै।
 गांधी ने कहा कि मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय की जबलपुर पीठ में मा.मुख्य न्यायाधीश महोदय के समक्ष रेस्ट हाउस नीलामी का मामला ऐश्वर्य पार्थ साहू एडवोकेट के माध्यम से प्रस्तुत किया गया है जो लंबित है जिसकी सुनवाई 16 तारीख को होना है। शासन प्रशासन को इतनी जल्दी है कि जनहित याचिका  के निपटारे के पूर्व ही गुपचुप तरीके से नपाई प्रारंभ कर दी है और यह प्रभावशाली और सत्तासीन राजनैतिक लोगों की मिलीभगत का परिणाम लगता है।उल्लेखनीय है कि उक्त मामले में मुकेश गांधी, पंकज राठौर, मोहन झलिया, कैलाश नवलानी ज्ञानेंद्र उपाध्याय एवं प्रज्ञान आर्यन साहू द्वारा नगर के नागरिकों की ओर से अरबों रुपए की कीमत वाले रेस्ट हाउस की एक लाख वर्ग फीट करीब ढाई एकड़ बहुमूल्य भूखंड को कौड़ियों के दाम बेचे जाने के विरूद्ध याचिका प्रस्तुत की है। जिसमें प्रारंभिक सुनवाई के बाद अगली सुनवाई 16 सितंबर को नियत की गई है जिसमें एमपीआरडीसी का पक्ष आना शेष है।