अपने साथ अपने बच्चे को सुरक्षित रखना चाहती थी सरिता (कहानी सच्ची है)

 


अपने साथ अपने बच्चे को सुरक्षित रखना चाहती थी सरिता (कहानी सच्ची है)
टीम को दी सूचना, गर्भवती महिला के घर जाकर लगाई वैक्सीन


कटनी | 
   पिपरिया निवासी सरिता उपाध्याय के घर खुशियां आने वाली हैं। सरिता गर्भवती हैं लेकिन कोरोना महामारी से खुद को बच्चे को भी सुरक्षित रखने को लेकर जागरूक भी हैं लेकिन केन्द्र तक जाने में उन्हें परेशानी हो रही थी। सरिता को जब इस बात की जानकारी लगी कि वैक्सीनेशन कार्य में लगी टीम ऐसी स्थिति में उनके घर पर भी आकर टीका लगा सकती है तो उन्होंने गांव के सचिव से वैक्सीनेशन को लेकर संपर्क किया। गर्भवती महिला द्वारा जब वैक्सीन लगवाने की जानकारी टीम को लगी तो ग्राम पंचायत कैमोरी की प्राथमिक शाला अंडिया में मौजूद टीम के सदस्य तत्काल उनके घर पहुंचे और सरिता को वैक्सीन की डोज लगाई गई।
   घर पहुंचकर वैक्सीन लगाने वाली टीम की स्टॉफ नर्स सविता हल्दकार, लेखराज, सचिव सुरेश कुमार बेन, सहायक सचिव मीना चक्रवर्ती, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता पान बाई, मुलायम बाई का सरिता ने आभार व्यक्त किया। साथ ही उन्होंने कहा कि मप्र सरकार के मुखिया शिवराज सिंह चौहान कोरोना से बचाव को लेकर लगातार वैक्सीनेशन कार्य को गति देने में जुटे हैं और इसके लिए लगातार अभियान चलाए जा रहे हैं। कोरोना से मैं, मेरा परिवार सुरक्षित रहे, इसके लिए घर पहुंचकर भी टीम वैक्सीन लगा रही है तो हमें भी जागरूकता दिखाते हुए वैक्सीन अवश्य लेनी चाहिए।