जोधपुर ACB टीम की पाली में बड़ी कार्रवाई , जैतारण एक्सईएन ने 25 हजार की रिश्वत लेकर खुद को किया मकान में बंद, एसीबी ने दबोचा
*जोधपुर ACB टीम की पाली में बड़ी कार्रवाई , जैतारण एक्सईएन ने 25 हजार की रिश्वत लेकर खुद को किया मकान में बंद, एसीबी ने दबोचा*

बाड़मेर से वागाराम बोस की रिपोर्ट 

जोधपुर डिस्कॉम में भ्रष्टाचार समाप्त होने का नाम ही नहीं ले रहा है। मकान में बिजली का कनेक्शन कराने के लिए भी लोगों से रिश्वत मांगी जा रही है। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो(एसीबी) की टीम ने गणेश चतुर्थी के दिन पाली जिले के जैतारण में तैनात जोधपुर डिस्कॉम एक एक्सईएन महेन्द्र कुमार मीणा को पच्चीस हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार कर लिया। उसने यह राशि एक मकान में बिजली का कनेक्शन करने के नाम पर ली थी। एसीबी जोधपुर की टीम को देख मीणा ने स्वयं को अपने मकान में बंद कर लिया। काफी जोर आजमाइश के बाद उसने दरवाजा खोला।
एसीबी के डीआईजी विष्णुकांत ने बताया कि जैतारण निवासी हेमंत कुमार ने एसीबी के जोधपुर ग्रामीण कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई कि उसने अपने मकान के लिए बिजली कनेक्शन लेने को नवम्बर 2020 व बाद में जून 2021 में फाइल लगा रसीद भी कटवा ली। मेरे मकान तक कुछ पोल लगाने है। ऐसे में डिमांड नोट का कहने पर एक्सईएन मीणा पंद्रह हजार रुपए की मांग कर रहा है। निरीक्षक अमराराम खोखर की तरफ से शिकायत का सत्यापन करने के दौरान मीणा ने रिश्वत की राशि को बढ़ा कर पच्चीस हजार रुपए कर दिया गया। आज सुबह हेमंत को पच्चीस हजार रुपए के साथ मीणा के जैतारण स्थित निवास पर उसे पच्चीस हजार रुपए सौंपे। रुपए थमाते ही खोखर के नेतृत्व में एक टीम वहां पहुंच गई। एसीबी की टीम को आता देख मीणा ने स्वयं को मकान में बंद कर दिया। उसके मकान में प्रवेश का कोई अन्य रास्ता भी नहीं था। आरोपी से काफी देर तक समझाइश की गई। बाद में बड़ी ममुश्किल से वह दरवाजा खोलने को तैयार हुआ। उसके मकान में रसोई में रखे फ्रिज के ऊपर कागज के एक डिब्बे से रंग लगे पच्चीस हजार रुपए बरामद किए गए।