ग्रामीण यांत्रिकी सेवा (RES) विभाग के अधिकारियों कि गांव में ग्रामीणों ने की जमकर पिटाई.. रोते हुए जान बचाकर भागे अधिकारी
ग्रामीण यांत्रिकी सेवा (RES) विभाग के अधिकारियों कि गांव में ग्रामीणों ने की जमकर पिटाई.. रोते हुए जान बचाकर भागे अधिकारी

*संदीप कुशवाहा की रिपोर्ट*



राजपुर SDM के कहने पर भी अधिकारियों ने ग्रामीणों के खिलाफ थाने में नहीं कराई रिपोर्ट दर्ज, Rural engineering service के अधिकारियों ने कहा, कुछ दिनों में माहौल शांत हो जाएगा।


बलरामपुर जिले के राजपुर विकासखंड अंतर्गत ग्राम पंचायत करजी के उधेनुपारा से कोरवा पारा मोहल्ला पहुंच मार्ग में खनिज मद से 15 लाख रुपए कि लागत से पुलिया निर्माण कार्य हुआ था, निर्माण कार्य में लापरवाही बरतते हुए घटिया गुणवत्ता हीन कार्य कराया गया, आज इस पुलिया का मूल्यांकन करने ग्रामीण यांत्रिकी सेवा (rural engineering service) विभाग की टीम पहुंची हुई थी जहां गांव में ही अधिकारियों के साथ मारपीट कि घटना हुई है।

अधिकारियों के आने कि जैसे ही ग्रामीणों को मिली जानकारी, मौके पर पहुंच,, कर दी पिटाई।

ग्रामीणों को जैसे ही जानकारी मिली की विभाग के अधिकारी गांव में पहुंचे हुए हैं ग्रामीण मौके पर पहुंचकर अधिकारियों से अपने मेहनत कि मजदूरी मांगने लगे। देखते ही देखते भुगतान को लेकर अधिकारियों और ग्रामीणों में विवाद की स्थिति निर्मित हो गई जिसके बाद उग्र ग्रामीणों ने अधिकारियों पर हमला कर दिया, अधिकारियों को बंधक बनाकर पीटने कि जानकारी मिली है।


अधिकारियों ने थाने में अपराध पंजीबद्ध भी नहीं कराया।

अधिकारियों से मारपीट कि घटना के बाद घायल अधिकारी किसी तरह वहां से निकलने में कामयाब रहे लेकिन उन्होंने इस मामले में थाने में अपराध पंजीबद्ध नहीं कराया। घटना की जानकारी लगते ही राजपुर एसडीएम बालेश्वर राम एवं तहसीलदार सुरेश राय थाने पहुंचे और घायल ग्रामीण यांत्रिकी सेवा (rural engineering service) के अधिकारियों कर्मचारियों से मामले की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए कहा परंतु ग्रामीणों के आक्रोशित होने पर पीटे गए अधिकारियों ने मामले की अपराध रिपोर्ट थाने में नहीं कराया।