पेंशन बहाली के लिए संघर्ष समिति ने विधायक को सौंपा ज्ञापन
पेंशन बहाली के लिए संघर्ष समिति ने विधायक को सौंपा ज्ञापन
बराड़ा, (जयबीर राणा थंबड़)। आज दिनांक 9-8 2-021 दिन सोमवार को पुरानी पेंशन बहाल संघर्ष समिति संबंधित नेशनल मूवमेंट फॉर ओल्ड पेंशन स्कीम के बैनर नीचे बराड़ा ब्लॉक प्रधान राजकुमार सैहला और सचिव लहरी सिंह की अध्यक्षता में पुरानी पेंशन बहाल करने के लिए एक ज्ञापन माननीय विधायक हलका मुलाना चौधरी वरुण मुलाना को दिया गया। विधायक वरुण चौधरी को पेंशन बहाली संघर्ष समिति द्वारा विस्तार से नेशनल पेंशन स्कीम खामियों के विषय में बताया गया जिसे सुनकर विधायक वरुण चौधरी ने आश्वासन दिया कि वह इस मुद्दे को ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के तहत विधानसभा में उठाएंगे निसंदेह नेशनल पेंशन स्कीम कर्मचारियों के साथ एक बहुत बड़ी नाइंसाफी है और पुरानी पेंशन बहाली की इस लड़ाई में वह कर्मचारियों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलेंगे तथा इससे पहले भी वह इस मुद्दे पर विधानसभा में कर्मचारियों की आवाज को बुलंद कर चुके हैं प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे समिति खंड प्रधान राजकुमार सहला ने कहा कि केंद्र सरकार ने 1 जनवरी 2004 और हरियाणा सरकार ने 1 जनवरी 2006 के बाद भर्तियों में आने वाले कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन नीति को समाप्त करके नवीन अंशदाई पेंशन स्कीम लागू की है। नई पेंशन स्कीम शेयर मार्केट पर आधारित है इसमें कर्मचारी को रिटायरमेंट के बाद टेंशन की कोई गारंटी नहीं है। जनवरी 2006 के बाद नियुक्त हुए कर्मचारी अब सेवानिवृत्त होने शुरू हो गए हैं और उनकी पेंशन 1000 से 15 सो रुपए के बीच लग रही है जोकि कर्मचारियों के साथ भद्दा मजाक है। सेवानिवृत्ति के बाद जब कर्मचारी की आयु 58 से 60 वर्ष की होती है उसको कई प्रकार की बीमारियां घेर लेती हैं और परिवार की अन्य जिम्मेदारियां इतनी कम राशि में बहन करना बहुत मुश्किल है।  सिविल सेवा सर्विसेज 1972 के अनुसार पेंशन कर्मचारी का हक है इसलिए सभी कर्मचारी वर्तमान सरकार से पुरानी पेंशन बहाल करने का अनुरोध करते हैं। इस अवसर पर पुरानी पेंशन बहाल संघर्ष समिति के राज्य उपप्रधान कमलदीप हुसैनी ने अपने संबोधन में बताया कि नई पेंशन स्कीम में 10 परसेंट शेयर कर्मचारी का कटता है और 10 परसेंट शेयर सरकार की तरफ से डाला जाता है और यह पैसा शेयर मार्केट में लगाया जाता है जिसका सीधा सीधा फायदा औद्योगिक घरानों को होता है और जिसकी भरपाई कर्मचारी और आम जनता से की जाती है। यह पैसा अगर सरकार चाहे तो अपने नागरिकों की सुविधा में प्रयोग किया जा सकता है। जिला प्रधान रमेश धीमान ने पहले विधानसभा में पुरानी पेंशन बहाली की आवाज को बुलंद करने के लिए विधायक वरुण चौधरी का धन्यवाद किया। इस अवसर पर मुख्य रूप से जिला प्रधान रमेश धीमान, जिला महासचिव सुदेश कुमार, तरुण कौशल, सतवीर सिंह देशवाल, जगमोहन सिंह, गुरतेज सिंह, संदीप सहगल, रणधीर सिंह, संजीव खेत्रपाल, रविंदर सिंह, दलबीर सिंह वादी सैकड़ों कर्मचारियों ने भाग लिया।
Popular posts
कारखानों ,वेयरहाउस की छत के ऊपर गोल-गोल क्या घूमता रहता है
चित्र
शासकीय नर्मदा महाविद्यालय में व्याख्यानमाला का आयोजन का शुभारंभ किया गया वाणिज्य के क्षेत्र में रोजगार की असीम संभावनाएं डॉ.ओ.एन.चौबे
पोटाची खळगी भरण्यासाठी रेल्वे गाड्यांमध्ये खेळणी विकणाऱ्या अथवा गायन, संगीत कला सादर करणाऱ्या वांगणी येथील सुमारे ४५० अंध बांधवांसोबत कार्य सम्राट सांसद डॉ शिंदे ने साजरी केली दिवाळी
चित्र
अवैध उत्खनन के विरुद्ध जिला प्रशासन की बड़ी कार्रवाई,
पिण्डजप्रवरारुढा चण्डकोपास्त्रकैर्युता | प्रसादं तनुते मह्यं चन्द्रघण्टेति विश्रुता
चित्र