ऑपरेशन के डर से गायब हुई प्रेग्नेंट महिला, मची अफरा-तफरी
*जिला अस्पताल से प्रेग्नेंट महिला गायब*

*ऑपरेशन के डर से गायब हुई प्रेग्नेंट महिला, मची अफरा-तफरी*

*7 घंटे बाद मिली महिला, सोशल मीडिया पर किया था मैसेज वायरल*

बाड़मेर से वागाराम बोस की रिपोर्ट 

*बाड़मेर।* बाड़मेर जिले के सबसे बड़े अस्पताल के डिलीवरी वार्ड की खिड़की की जाली तोड़कर एक प्रेग्नेंट महिला भाग गई। प्रेग्नेंट महिला के भागने की जानकारी मिलते ही अस्पताल प्रशासन में अफरा-तफरी मच गई। अस्पताल प्रशासन ने कोतवाली पुलिस को सूचना दी। 7-8 घंटे बाद महिला जिला अस्पताल से 10 किलोमीटर दूर जैसलमेर रोड हाईवे पर मिल गई।
दरअसल, मंगलवार रात को प्रेग्नेंट महिला को जिला अस्पताल के डिलीवरी वार्ड में भर्ती करवाया था। प्रेग्नेंट महिला ऑपरेशन के डर के मारे सुबह अस्पताल की खिड़की में लगी जाली तोड़कर बिना किसी को बताये रवाना हो गई। अस्पताल से प्रेग्नेंट महिला सरोज पत्नी सुख सिंह निवासी बाड़मेर आगोर के गायब होने के बाद अफरा-तफरी मच गई। इस पर परिजनों और अस्पताल प्रशासन ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस और परिजनों ने सोशल मीडिया पर फोटो डालकर अपील की कि प्रेग्नेंट महिला के ढूंढने में मदद करें। इस पर करीब 7-8 घंटे बाद वह महिला अस्पताल से 10 किलोमीटर दूर मिली। महिला को परिजनों उसे समझा कर वापस अस्पताल लेकर आए।
*सोशल मीडिया किया मैसेस वायरल*
महिला प्रेगनेंट होने के कारण पुलिस और परिजनों ने सोशल मीडिया पर मैसेस वायरल किया इससे महिला 7-8 घंटे में मिल गई। वहां पर ग्रामीणों ने देख लिया और पुलिस को सूचना दी। पुलिस, अस्पताल प्रशासन और परिजनों ने राहत की सांस ली।
*ऑपरेशन के डर से हुई गायब*
डिलीवरी वार्ड की HOD डॉक्टर कमला वर्मा के अनुसार प्रेग्नेंट महिला देर रात अस्पताल में भर्ती करवाया था। उसका इलाज चल रहा था। सुबह पेन का इंजेक्शन लगाया गया। इसके बाद वह अचानक बिना बताए चली गई। इसकी जानकारी कोतवाली पुलिस को दी गई। करीब 2 बजे के आसपास महिला मिल गई है। इलाज फिर से शुरू कर दिया गया है। महिला डर गई थी।
गौरतलब है कि इस तरीके से अस्पताल से महिला का गायब होना सुरक्षा पर सवाल खड़े कर रहा है। इसी अस्पताल से कुछ माह पहले एक बच्चा भी चोरी हो गया था। चोरों का पुलिस अभी तक पता नहीं लगा पाई है।