पीईटी परीक्षा में सॉल्वर गैंग था सक्रिय एसटीएफ ने दबोचा
* कौशांबी से बड़ी खबर

पीईटी परीक्षा में सॉल्वर गैंग था सक्रिय एसटीएफ ने दबोचा

*मुख्यालय स्थित ओसा के दुर्गा देवी इंटर कॉलेज में नकल कराने पहुंचे थे सॉल्वर गैंग के लोग

*एसटीएफ प्रभारी केसी रॉय की अगुवाई में पहुंची थी टीम इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस मोबाइल के साथ पकड़ी गई नगदी

*कौशाम्बी*पीईटी परीक्षा में सॉल्वर गैंग पहले से सक्रिय था इस बात की भनक भी एसटीएफ को थी मामले में प्रयागराज एसटीएफ ने गैंग को पकड़ने के लिए जाल बिछाया था। जिसमें टीम वाराणसी, प्रयागराज, कानपुर प्रतापगढ़ के साथ कौशांबी में इस गैंग के सदस्यों को दबोचने के लिए लगी थी। जैसे ही परीक्षा शुरू हुआ कि गैंग कौशांबी मुख्यालय मंझनपुर के नजदीक ओसा इंटर कॉलेज के आसपास सक्रिय नजर आए। एसटीएफ टीम बिना देरी किए हुए इस गैंग के सदस्यों को दबोच लिया। जहां से टीम ने 4 लोगों को पकड़ा है। जिसमें 3 सदस्य थे तो एक स्लॉवर मामले में पुलिस ने जरूरी लिखा पढ़ी करते हुए आरोपियों को जेल भेज दिया है

मामले की जानकारी देते हुए एसटीएफ के प्रभारी इंस्पेक्टर केसी राय ने बताया कि उनके पास इस बात का इनपुट के साथ कौशांबी में गैंग के लोग पहुंच रहे हैं। उन्होंने मोबाइल को भी सर्विलांस पर लगाया था। जैसे ही यह लोग सॉल्वर को उसकी हिस्से की रकम पहुंचाने के लिए पहुंचे उन्होंने गैंग के लोगों को दबोच लिया। गैंग के लोगों के पास से ऐसे लोगों की लिस्ट मिली जिन्होंने इस गैंग से संपर्क किया था। डायरी जिसमें लेनदेन का ब्यौरा भी बरामद हुआ यही नहीं इनके पास एक सिम डिवाइस भी बरामद हुई जिससे यह ग्रुप के जरिए सॉल्वर को सारी सूचना पहुंचाते थे। यही नहीं टीम को व्हाट्सएप चैट भी बरामद हुए जिससे इनके पूरे अवैध कारनामों का खुलासा होता है। गिरफ्तार आरोपी अभिषेक सिंह, राहुल सिंह, उदय शंकर और पंकज बताए जा रहे हैं। एसटीएफ टीम में एसआई धर्मेंद्र सिंह कांस्टेबल प्रवीण, रोहित सिंह, संतोष कुमार, किशन चंद्र और मनोज यादव, शामिल रहे। एसटीएफ टीम ने आरोपियों पर जरूरी लिखा पढ़ी करते हुए उन्हें मंझनपुर कोतवाली के सुपुर्द कर दिया है। आरोपियों के पास से चार आदत ब्लूटूथ माइक डिवाइस, एक सैंडो बनियान, इलेक्ट्रॉनिक सिम कार्ड डिवाइस, प्रश्न उत्तर पुस्तिका ओएमआर की मूल सीट प्रवेश पत्र कूट रचित आधार कार्ड के साथ एक स्कूटी भी बरामद हुई और 25 हजार रुपये नगदी भी बरामद हुए हैं।
 यूपी स्टेट से मिडिया प्रभारी पवन मिश्रा की रिपोर्ट