जल शक्ति अभियान का 60 प्रतिश्त लक्ष्य पूरा
जल शक्ति अभियान का 60 प्रतिश्त लक्ष्य पूरा- उपायुक्त


चरखी दादरी- जिला में जल शक्ति अभियान के तहत निर्धारित 60 प्रतिशत लक्ष्यों को प्राप्त कर लिया गया है और इस माह के अंत तक जिला को मिले सभी टारगेट पूरे कर दिए जाएंगे। उपायुक्त प्रदीप गोदारा ने शुक्रवार को अपने कार्यालय में जल शक्ति अभियान की समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी।उपायुक्त ने बैठक में कहा कि प्रकृति का संरक्षण बहुत जरूरी है और प्रकृति को हम जो देते हैं, वही हमें उससे वापस मिलता है। पर्यावरण संरक्षण के साथ ही जल संचयन और पौधरोपण की बेहद जरूतर है। आज जंगल खत्म होते जा रहे हैं, जिसक कारण कहीं बाढ आ जाती है और कहीं सूखा पड़ जाता है। पानी की स्थिति भी ठीक नहीं है। कहीं बरसात कम होती है तो कहीं बादल फट जाते हैं। यह सब प्रकृति का संतुलन बिगडने के कारण ही हो रहा है। ऐसे में सभी को एक साथ मिलकर पर्यावरण संरक्षण, जल संचयन और पौधारोपण के लिए काम करने की जरूरत है।उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा इसी सोच के साथ जल शक्ति अभियान की शुरूआत की गई है और इस बार अभियान की थीम भी बरसात के पानी को संचय करने की है। जब तक बरसाती पानी का संरक्षण नहीं किया जाएगा। पानी का संकट खत्म नहीं होगा और अच्छी एवं संलुलित बरसात के लिए पौधारोपण के अलावा कोई समाधान नहीं है। पार्यावरण के संरक्षण के लिए हम सबको मिलकर इन दोनों क्षेत्रों में लगातार काम करने की जरूरत है। 
 उन्होंने बताया कि जल शक्ति अभियान के तहत जिला को मिले लक्ष्यों में से 60 प्रतिशत कार्य पूरा कर लिया गया है और उम्मीद है कि इस माह के अंत तक सभी लक्ष्य प्राप्त कर लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि जिला में 1300 जल संचयन एवं रेन वाटर हार्वेटिंग सिस्टम लगाने का लक्ष्य है। इसके अलावा जिला में 500 पुराने तालाबों का सौंदर्यकरण करने का भी काम किया जाना है। यही नहीं जल शक्ति अभियान के तहत लगभग 800 सोखते गढडे और 150 वाटर शैड भी बनाए जा रहे हैं। बैठक में जिला परिषद के कार्यकारी अधिकारी कौशल कटारिया, जिला राजस्व अधिकारी सतीश कुमार, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी कवर दमन सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी जयप्रकाश सभ्रवाल, जिला बागवानी अधिकारी डा. राजेश स्वामी, सिंचाई विभाग के कार्यकारी अभियंता वेदपाल सांगवान, लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता सोमबीर सिंह, नगर परिषद की कार्यकारी अधिकारी सुमनलता, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी विरेन्द्र मलिक, खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी सुभाष शर्मा व नरेश छिकारा और तहसीलदार बंसीलाल सहित अन्य विभागों के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।


उमेश सतसाहेब की रिपोर्ट चरखी दादरी हरियाणा