कलेक्टर ने कुसमी प्रवास दौरान कृषि उपज मंडी मे बैठक लेकर कोल्ड स्टाक को लेकर कृषकों से की बात फसल उत्पादन से लेकर सिंचाई के बारे में हुई चर्चा
कलेक्टर ने कुसमी प्रवास  दौरान कृषि उपज मंडी मे बैठक लेकर कोल्ड स्टाक को लेकर कृषकों से की बात फसल उत्पादन से लेकर सिंचाई के बारे में हुई चर्चा

*संदीप कुशवाहा की रिपोर्ट*

 बलरामपुर कलेक्टर इन्द्रजीत चन्द्रवाल ने कुसमी विकासखण्ड के विभिन्न ग्रामों का भ्रमण किया। कृषि विभाग द्वारा विभिन्न स्थान पर बोल्डर चेक, मिट्टी बंधान, स्टॉप डेम के माध्यम से इसका संवर्धन का कार्य कराया गया, जिसके कारण अब इस नाले में सालभर पानी रहता है। पहले यहां के किसान सिर्फ 124 हेक्टेयर में रबी की फसल लेते थे, किन्तु नाला संवर्धन पश्चात् 198 हेक्टेयर में यहां के किसान विभिन्न प्रकार की फसल ले रहे हैं। स्थानीय कृषक हीरालाल इसी नाले से ड्रिप पद्धति से सिंचाई कर पपीता, खीरा, टमाटर की फसल ले रहे हैं और अच्छी आमदनी कमा रहे हैं। इसी प्रकार कृषक  जोसेफ द्वारा नाला से सिंचाई कर एक एकड़ में खीरा, आधा एकड़ में ग्राफ्टेड बैंगन की खेती की गई है। कलेक्टर  चन्द्रवाल ने अन्य कृषकों को इसी तरह उन्नत खेती करने के लिए प्रेरित करने हेतु विभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया।
इसके पश्चात् कलेक्टर द्वारा विकासखण्ड राजपुर के ग्राम सिधमा में उन्नतशील कृषक  सोमनाथ के फल उद्यान का भी निरीक्षण किया। कृषक ने 10 एकड़ में विभिन्न प्रकार के आम, लीची, पपीता, अमरूद लगाया है तथा अच्छी आमदनी प्राप्त कर रहे हैं। कलेक्टर ने विभागीय अधिकारियों को अन्य कृषकों को  सोमनाथ के फल उद्यान का भ्रमण कर प्रोत्साहित करने हेतु निर्देशित किया। तत्पश्चात् कलेक्टर ने राजपुर के ग्राम परसागुड़ी में रामलाल लहरे द्वारा जईया मिर्च पर किये जा रहे शोध कार्यों का निरीक्षण किया। कृषक  लहरे द्वारा जईया मिर्च के जी.आई. टैग हेतु आवेदन किया गया है। जईया मिर्च एवं रोधी मिर्च है और एक बार लग जाने के बाद इससे 08 से 10 साल तक फल ले सकते हैं। कलेक्टर  इन्द्रजीत सिंह  लहरे के कार्यों की प्रशंसा की तथा कहा कि जईया मिर्च के लिये जी.आई. टैग मिलना जिले के लिए एक बड़ी उपलब्धि होगी। कलेक्टर ने मिर्च के प्रोसेसिंग दो  प्लांट लगाने की भी बात कही और संसदीय सचिव चिंतामणी महराज के द्वारा लगाऐ गऐ मिर्च का भी निरीक्षण किया