देश दुनिया पहली प्रकृति पर्यावरण पर खुली संसदसमर्थ सद्गुरु के सानिध्य एक होंगे प्रकृति पर्यावरण प्रेमी
देश दुनिया पहली प्रकृति पर्यावरण पर खुली संसद
समर्थ सद्गुरु के सानिध्य एक होंगे प्रकृति पर्यावरण प्रेमी

जबलपुर-राष्ट्र के हृदय नगर संस्कारधानी में प्रकृति पर्यावरण प्रेमियों का समागम समर्थ राष्ट्रीय प्रकृति पर्यावरण चिंतन शिविर त्रिदिवसीय संसद सत्र 1अगस्त से 3 अगस्त तक समर्थ सद्गुरु भैयाजी सरकार दादा गुरु के पावन सानिध्य मार्गदर्शन में आयोजित की जा रही है जिसमें देश के अनेक राज्यों जिलों के अनेक संगठन संस्थाओं के पदाधिकारी प्रकृति प्रेमी पर्यावरणविद शामिल होंगे जहां प्रकृति पर्यावरण संरक्षण सम्वर्धन प्रबंधन पर मंथन चिंतन करेंगे।
देश दुनिया की पहली पर्यावरण संरक्षण सम्वर्धन के पवित्र लक्ष्य को लेकर हो रहे त्रिदिवसीय संसद सत्र में प्रमुखतः से बक्स्वाहा जंगल बचाओ ,मां नर्मदा संरक्षण सम्वर्धन
पर्वत मालाओं वन अभ्यारणों व  विश्व की अमूल्य प्राकृतिक धरोहरों के संरक्षण सम्वर्धन प्रबंधन पर विशेष परिचर्चा के साथ कार्ययोजना पर गहन चिंतन होगा समर्थनसद्गुरु के सानिध्य मार्गदर्शन में जन जागरण एवं सेवा कार्य की विशेष रणनीति तैयार होगी।
नर्मदा मिशन बक्स्वाहा जंगल बचाओ अभियान से जुड़े सदस्यों ने देश की सभी सामाजिक प्रकृति पर्यावरण से सम्बंधित संगठनों संस्थाओं पर्यावरण प्रेमियों से शामिल होने भाव पूर्ण आह्वान किया है।