जिलाधिकारी ने पीएचसी मंझनपुर एवं सीएचसी सिराथू का किया औचक निरीक्षण
कौशांबी की खबरें

जिलाधिकारी ने पीएचसी मंझनपुर एवं सीएचसी सिराथू का किया औचक निरीक्षण, दिये आवश्यक दिशा निर्देश
कौशाम्बी जिलाधिकारी सुजीत कुमार ने मंगलवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मंझनपुर एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र सिराथू का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण में जिलाधिकारी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मंझनपुर में स्थापित हो रहे ऑक्सीजन प्लॉण्ट एवं आक्सीजन पाइप लाइन के हो रहे निर्माण कार्य को देखा। उन्होंने आगामी कोविड-19 की तीसरी लहर से बचाव हेतु सभी आवश्यक तैयारियां पहले से पूर्ण करने का निर्देश संबंधित प्रभारी चिकित्साधिकारियों को दिया है। उन्होंने आक्सीजन प्लाण्टों के कार्य को जल्द से जल्द पूर्ण कराये जाने का भी निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने डाक्टरों को समय से ओपीडी में बैठने एवं मरीजो को देखने का निर्देश दिया है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी शशिकांत त्रिपाठी, उप जिलाधिकारी सिराथू प्रखर उत्तम, प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ0 अरूण पटेल सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे। 

जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक संपन्न
प्रसूताओं के इन्सेन्टिव का भुगतान समय से न होने पर जिलाधिकारी ने व्यक्त की कड़ी नाराजगी
कौशाम्बी जिलाधिकारी सुजीत कुमार की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित सम्राट उदयन सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति एवं संचारी रोग नियन्त्रण से बचाव हेतु बैठक आयोजित की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने जननी सुरक्षा योजना, परिवार कल्याण कार्यक्रम, टीकारण कार्यक्रम, एमसीटीएस, नगरीय स्वास्थ्य कार्यक्रम, राष्ट्रीय अन्धता निवारण कार्यक्रम, कुष्ठ निवारण कार्यक्रम, प्रधानमंत्री मातृ वन्दन योजना, पीसीपीएनडीटी तथा राष्ट्रीय क्षय नियन्त्रण कार्यक्रम सहित अन्य स्वास्थ्य सम्बन्धी योजनाओं की विन्दुवार समीक्षा की। बैठक मंे जननी सुरक्षा योजना कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि स्वास्थ्य सेवाओं में किसी भी प्रकार की लापरवाही या उदाशीनता क्षम्य नहीं होगी। उन्होने सभी एमओआईसी को निर्दिष्ट किया है कि वे आशाओं को घर-घर भेजकर गर्भवती महिलाओं का चिन्हीकरण कर उनका रजिस्टेªशन करें तथा शत-प्रतिशत संस्थागत प्रसव कराना सुनिश्चित करे। प्रसूताओं को मिलने वाले इन्सेन्टिव एवं आशाओं के मानदेय का भुगतान समय से न होने पर जिलाधिकारी ने कड़ी फटकार लगाते हुए संबंधित के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। उन्होंने सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियांे को निर्देशित करते हुए कहा कि प्रसव होने के बाद प्रसूता महिला को अस्पताल में 48 घण्टे अवश्य रखें जिससे कि महिला एवं बच्चे का निरन्तर स्वास्थ्य परीक्षण किया जा सके। 
जिलाधिकारी ने 01 जुलाई 2021 से 31 जुलाई 2021 तक चलाये जाने वाले संचारी रोग नियन्त्रण जन जागरूकता अभियान हेतु कीे जाने वाली तैयारियों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने संचारी रोग नियन्त्रण एवं बचाव हेतु जन जागरूकता अभियान का व्यापक प्रचार-प्रसार कराये जाने के लिए सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों को निर्देशित किया है। साथ ही साथ संचारी रोग तथा दिमागी बुखार से बचाव हेतु प्रचार-प्रसार के लिए आगनबाड़ी कार्यकर्त्रियों को भी प्रशिक्षित किये जाने का निर्देश दिया है। उन्होने जिला पंचायत राज अधिकारी एवं अधिशासी अधिकारी नगर पंचायतों को नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान चलाये जाने का निर्देश दिया है। उन्हेांने नालियों को ढकने, खुली नालियों की साफ सफाई ठीक ढंग से कराये जाने एवं जल जमाव वाले स्थानों को चिन्हित कर वहां पर जल जमाव न होने देने हेतु आवश्यक कार्रवाई सुनिश्चित किये जाने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने अधिशासी अधिकारी नगर पंचायतों को स्वास्थ्य विभाग से समन्वय स्थापित करते हुए फागिंग एवं कीटनाशक दवाओं का छिड़काव कराये जाने की व्यवस्था सुनिनिश्चित किये जाने हेतु निर्देशित किया है। उन्होने सार्वजनिक शौचालयों को साफ सुथरा रखने एवं जलापूर्ति की समुचित व्यवस्था बनाये रखने का भी निर्देश दिया है। उन्हेांने मलिन बस्तियों में विशेष अभियान चलाकर सफाई कराये जाने का निेर्देश दिया है। उन्होने शुद्ध पेयजल की व्यवस्था हेतु उथले हैण्ड पम्पस को चिन्हित कर जनता को उनका प्रयोग न करने के लिए जागरूक करने, इनके स्थान पर इंडिया मार्क-2 हैण्डपम्प की व्यवस्था करने एवं खराब इण्डिया मार्क-2 हैण्डपम्पों की मरम्मत कराना व निरन्तर क्रियाशील रखना तथा चारो ओर पक्का चबूतरा बनवाये जाने का निर्देश संबंधित को दिया है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी शशिकांत्र त्रिपाठी, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 पीएन चतुर्वेदी, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला विकास अधिकारी विजय कुमार सहित अन्य अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित रहे।
 यूपी स्टेट से मिडिया प्रभारी पवन मिश्रा की रिपोर्ट