सुजाता महिला मंडल ने छत्रपति साहू जी महाराज की जयंती हर्षोल्लास से मनाई।
सुजाता महिला मंडल ने छत्रपति साहू जी महाराज की जयंती हर्षोल्लास से मनाई।

बैतूल/सारनी। कैलाश पाटील

बुद्ध विहार में आरक्षण के जनक राजश्री छत्रपति शाहू जी महाराज की 147 वी जयंती हर्षोल्लास के साथ सुजाता महिला मंडल की महिला कार्यकर्ताओं ने मनाई और लोगों को शुभकामनाएं दी। सुजाता महिला मंडल की उपाध्यक्ष लक्ष्मी चंदेलकर ने तथागत भगवान बुद्ध ,बौधिसत्व बाबासाहेब आंबेडकर के प्रतिमा और छत्रपति शाहूजी महाराज के छायाचित्र के सामने मोमबत्ती प्रज्वलित पुष्प अर्पण करते हुए कार्यक्रम की शुरुआत की। महिला मंडल की अध्यक्ष निर्मला आठनेरे ने मंच संचालन किया।आयुष्मति उर्मिला चौकीकर ने राजश्री छत्रपति शाहूजी महाराज के जीवन पर प्रकाश डाला। उसने बताया कि देश में आरक्षण की शुरुआत दलित बहुजन समाज को शिक्षित कर राज्य के कार्यों में हिस्सेदारी देने वाले पहले राजा थे। राज्य में सतिप्रथा को खत्म कर विधवा विवाह अंतरजाति विवाह को मान्यता दी। समानता का व्यवहार और अधिकार स्थापित की। इस ऐतिहासिक जयंती के कार्यक्रम में श्रीमती नीलम बामने, सूरभी चौकीकर, कमला आठनेरे,अर्चना मानकर, रेखा नागले, निर्मला कापसे, यशोदा कापसे, दीक्षा मानकर आदि लोग थे।