सिर पर नहीं है छत न्याय के लिए भटक रही है बेवा
*छीन ली सिर से छत, हैंडपंप का बकाया चुकाने करा लिया घर रजिस्ट्री न्याय के लिए भटक रही है विधवा महिला*

 रामानुजगंज :- नगर के वार्ड क्रमांक 13 की बेवा महिला ने वाड्रफनगर विकासखंड के ग्राम चलगली में स्थित विक्रय किए गए अपने मकान का पूरा पैसा दिए बिना धमकी देकर जबरदस्ती रजिस्ट्री करा लिए जाने का आरोप लगाते हुए पुलिस अधीक्षक को पुनः ज्ञापन सौंप न्याय की गुहार लगाई है। महिला ने आरोप लगाया कि उक्त दबंग व्यक्ति के द्वारा पैसा मांगे जाने पर लगातार धमकी भी दी जा रही है। गौरतलब है कि नगर के वार्ड क्रमांक 13 निवासी सरिता देवी पति स्वर्गीय रोहित कुमार उम्र 30 वर्ष ने पुलिस अधीक्षक को पुनः ज्ञापन सौंप बताया कि ग्राम चलगली में जमीन खरीद कर दो कमरे का मकान बनाकर अपने पति के साथ रहती थी जिसे गांव के दबंग शिक्षक अनिल कुमार गुप्ता एवं हेमा गुप्ता के द्वारा पांच लाख पचास हजार में खरीदा गया। जिसके बाद अनिल कुमार गुप्ता द्वारा जबरन दबाव देकर सम्पूर्ण विक्रय मूल्य दिए बिना मुझे जबरदस्ती गाड़ी में बैठा कर गाली गलौज करते मारते पीटते अम्बिकापुर ले जा रजिस्ट्री भी करा ली गई। रजिस्ट्री के बाद अनिल गुप्ता के द्वारा मात्र ₹143,000 ही दिया गया और शेष राशि बाद में देने के लिए कहा गया परंतु पति के मृत्यु के बाद उसकी नियत बदल गई और अब उसके द्वारा पैसा नहीं दिया जा रहा है वहीं पैसा मांगने पर जान से मारने की धमकी दी जाती है। सरिता ने पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंप न्याय की गुहार लगाई है।

*हैंडपंप का बकाया चुकाने करा लिया घर रजिस्ट्री*
सरिता गुप्ता ने बताया कि पति के द्वारा घर में बोरिंग कराया गया था जिसके एवज में अनिल गुप्ता को ₹35,000 देना था जिसमें से कुछ पैसा दे भी दिया गया था और कुछ पैसा बकाया रह गया था इसी बीच पैसा का ब्याज बढ़ाते बढ़ाते 85 हजार कर दिया गया जिसके बाद जमीन रजिस्ट्री के लिए दबाव बनाकर रजिस्ट्री करा लिया गया

 *सिर पर नहीं है छत न्याय के लिए भटक रही है बेवा*
पति की मृत्यु के बाद बेवा सरिता गुप्ता कि स्थिति ऐसी हो गई है कि घर बेचने के बाद पैसा भी नहीं मिला वहीं अब सर ढकने के लिए छत तक नसीब नहीं हो रहा है। सरिता अपने दो मासूम बच्चों के साथ न्याय की आस में भटकने को मजबूर है।

*बेवा ने मारपीट गाली-गलौज का भी लगाया आरोप*
सरिता गुप्ता ने बताया कि अनिल गुप्ता के द्वारा जबरदस्ती रजिस्ट्री कराने गाली-गलौज व मारपीट करते ले जाया गया था वहीं अब जब जब पैसा की बात कहती है तब तब गाली गलौज एवं मारपीट की जाती है जिससे वह बहुत डरी सहमी है।

*रामानुजगंज से सौरव कुमार चौबे कि रिपोर्ट*