कुतों के झुंड से छुड़ाया घायल हरिण। इलाज के अभाव में तोड़ा दम, वन विभाग के अधिकारियों ने नहीं किया फोन रिसीव।
*कुतों के झुंड से छुड़ाया घायल हरिण। इलाज के अभाव में तोड़ा दम, वन विभाग के अधिकारियों ने नहीं किया फोन रिसीव।*

मौखाब शिव।

   

 भिंयाड़। क्षैत्र के मौखाब सरहद में गुरूवार सुबह एक हरिण कुत्तों की चपेट में आ गया। ग्रामीणों ने कुतो के झुंड से हरिण को छुड़ाया पर जबतक कुतो ने हरिण को काफी जख्मी कर दिया था। ग्रामीण तेजसिंह राजपुरोहित ने बताया की पुरोहितों की ढाणी मौखाब सरहद में एक हरिण को कुतों के संगुल से छुड़ाया जख्मी हरिण को तत्काल उपचार के लिए पशु चिकित्सालय मौखाब लाया गया। जंहा पर कोई कर्मचारी उपस्थित नहीं होने पर वन विभाग के अधिकारियों से संपर्क करने का लगातार प्रयास किया गया लेकिन किसी अधिकारी ने फोन रिसीव नहीं किया।  इलाज के अभाव में हरिण ने तड़प तड़प कर दम तोड़ दिया।
ग्रामीणों का कहना है कि  विभागीय उदासीनता व  इलाज के अभाव में हरिण की जान गई है। इन दिनों वन से भटक कर सरहद में विचरण कर रहे जंगली जीव सुरक्षित नहीं है। आए दिन हरिण कुतो के शिकार हो रहे है। व विभाग सुख की नींद सो रहा है। 
 
शिव से मूलाराम चौधरी की रिपोर्ट