कोरोना रोकथाम के उपायों की व्यापक समीक्षा,तीसरे डोर टू डोर सर्वे में एक भी संक्रमित छूटे नही - लोक बन्धु*
*कोरोना रोकथाम के उपायों की व्यापक समीक्षा,तीसरे डोर टू डोर सर्वे में एक भी संक्रमित छूटे नही - लोक बन्धु*
*ब्लैक फंगस की भी घर-घर स्क्रीनिंग होगी*

बाड़मेर से वागाराम बोस की रिपोर्ट 

बाड़मेर, 21 मई। जिले में कोरोना वायरस की रोकथाम एवं आगामी रणनीति पर शुक्रवार को जिला कलक्टर लोक बंधु ने व्यापक समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने बढ़ते ब्लैक फंगस के मामलो में भी सतर्कता बरतने को कहा।
    इस अवसर पर जिला कलेक्टर ने कहा कि नए संक्रमण के मामलों में कमी के बावजूद कतई लापरवाही नहीं बरती जाए एवं लॉकडाउन की सख्ती से पालना करवाई जाए। साथ ही अनावश्यक रूप से लोगों के घर से निकलने पर कड़ी कार्यवाही की जाए।
*डोर टू डोर सर्वे*
जिला कलक्टर लोक बंधु ने बताया कि जिले में कोविड संक्रमण की रोकथाम के लिए डोर-टू-डोर सर्वे का तीसरा चरण शुरू किया जा चुका है। यह सर्वे अत्यधिक प्रभावशील होना चाहिए तथा इसमें एक भी घर एवं संक्रमित छूटना नहीं चाहए। पंचायत स्तरीय कोर कमेटी द्वारा तीसरे चरण के दौरान आईएलआई लक्षण वाले मरीजों के घर के बाहर पर्फोमा चस्पा किया जाए, जिस पर आईएलआई लक्षण वाले लोगों की प्रतिदिन स्वास्थ्य संबंधित डिटेल हो तथा उनके स्वास्थ्य का प्रतिदिन अवलोकन किया जाए। उन्होने सभी चयनित आईएलआई मरीजों का होम आईसोलेशन तथा मेडिकल किट वितरण सुनिश्चत करने के निर्देश दिए है।
*सेक्टर अधिकारी ले जायजा*
उन्होंने बताया कि प्रत्येक 3-4 पंचायत पर सेक्टर अधिकारी नियुक्त किए गए हैं, जो स्वयं पंचायतों का भ्रमण करेंगे एवं रोगियों के घर पर जाकर भौतिक सत्यापन के अलावा पंचायत स्तरीय कोर ग्रुप के कार्य का निरीक्षण करेंगे एवं इसकी रिपोर्ट प्रतिदिन जिला जिला कलक्टर को प्रस्तुत करेंगे। आईएलआई लक्षण वाले मरीजों के घरो को मार्क को भी देखा जाएगा। उन्होनें अधिकारियों से उक्त सर्वे का रेन्डम निरीक्षण करने तथा वेरिफिकेशन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। 
*24 को विवाह पर हो निगरानी*
जिला कलक्टर ने बताया कि आगामी 24 मई को जिले में काफी संख्या में विवाह आयोजित होने है, इन पर कड़ी निगरानी रखी जाए तथा प्रत्येक विवाह पर एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाए, जो उस दिन वहां तैनात रहे एवं गाइड लाइन की पालना व 11 लोगों के ही शामिल होने को सुनिश्चित करें।
*ब्लैक फंगस पर रखे नजर*
जिले में बड़ी संख्या में लोग कोरोना पॉजिटिव से नेगेटिव हुए है, इन पर विशेष निगरानी रखी जाए एवं ब्लैक फंगस के लक्षण नजर आने पर तुरंत उपचार आरम्भ हो। डोर टू डोर सर्वे के दौरान ब्लैक फंगस की भी स्क्रीनिंग करवाने तथा लोगों को इसके लक्षणों की जानकारी देने की हिदायत दी।
*हाथों-हाथ हो जांच*
जिला कलक्टर ने बताया कि जिले में पांच हजार रैपिड एंटीजन टेस्ट किट प्राप्त हो चुके हैं, इसलिए डोर टू डोर सर्वे के दौरान आई एल आई लक्षण वाले रोगियों एवं कोरोना संदिग्ध लोगो का हाथों हाथ एंटीजन टेस्ट कर लिया जाए तथा रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उन्हें तुरंत आइसोलेट कर उपचार आरंभ हो एवं प्रतिदिन उसका फॉलोअप लिया जाए।
     इस मौके पर पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा, मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एल. विश्नोई, अतिरिक्त जिला कलक्टर ओमप्रकाश विश्नोई, कोरोना के नोडल अधिकारी कपूर शंकर मान समेत जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे। वही सभी उपखंड अधिकारी एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारी वीसी के जरिए जुड़े।