कोविड प्रबंधों की समीक्षा बैठक सर्वे के दौरान बच्चों में आईएलआई लक्षणों पर दें विशेष ध्यान - लोक बंधु*
*कोविड प्रबंधों की समीक्षा बैठक सर्वे के दौरान बच्चों में आईएलआई लक्षणों पर दें विशेष ध्यान - लोक बंधु*
*कोरोना से ठीक हुए लोगों में ब्लैक फंगस के लक्षणों पर भी निगरानी के निर्देश*

बाड़मेर से वागाराम बोस की रिपोर्ट 

बाड़मेर, 24 मई। कोरोना संक्रमण की ग्रामीण क्षेत्रों में रोकथाम के लिए पूर्ण सतर्कता बरतते हुए डोर टू डोर सर्वे पर विशेष फोकस किया जाए। सर्वे के तीसरे चरण के तहत ग्राम स्तरीय कोर कमेटी के सदस्य घर-घर जाकर बच्चों में भी आईएलआई लक्षणों की पड़ताल करें। जिला कलक्टर लोकबंधु ने सोमवार सांय जिले में कोविड प्रबंधन के लिए आयोजित बैठक के दौरान ये बात कही। 
इस दौरान उन्होनें कहा कि ग्राम स्तर पर कार्य करने वाले कार्मिक किसी प्रकार की कौताही न बरते तथा पूर्ण सतर्कता से राज्य सरकार द्वारा जारी गाईडलाईन की पालना सुनिश्चित करें। उन्होनें कहा कि ग्राम स्तरीय कोर कमेटी द्वारा किए जा रहे डोर-टू-डोर सर्वे का रेण्डम वेरफिकेशन आवश्यक है। चयनित आईएलआई लक्षण वालें लोगों के दूरभाष नम्बर पर रेण्डमली संपर्क कर उनसे मेडिकल किट वितरण एवं होम आईसोलेशन के बारे में पूछा जाकर वेरिफिकेशन किया जाए। साथ ही उपखण्ड अधिकारी कमेटी के कार्यो का नियमित निरीक्षण सुनिश्चित करें। 
*चिकित्सा उपकरणों का स्टॉक इंद्राज हो*
जिला कलक्टर लोक बंधु ने कहा कि ब्लॉक स्तर पर प्राप्त समस्त राहत सामग्री जैसे ऑक्सीजन सिलेण्डर, ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर एवं अन्य उपकरणों का स्टॉक इन्द्राज किया जाकर उन्हें पूर्ण सुरक्षित रखा जाए। उन्होने स्टॉक इन्द्राज कर जिला स्तर पर सूचित करने के निर्देश दिए है। उन्होनें कहा कोविड केयर सेंटर्स इत्यादि पर कोविड संक्रमण कम होने से उक्त उपकरणों का प्रभावी प्रबंधन आवश्यक है। 
*तीसरी लहर से बचाव के लिए पूर्व प्रबंध*
जिला कलक्टर लोक बंधु ने कहा कि कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर में बच्चों में संक्रमण फैलने की संभवना को देखते हुए अभी से इस संबंध में पुख्ता प्रबंध सुनिश्चित किए जाए। उन्होनें कहा कि ग्राम स्तरीय कमेटी के सदस्य डोर-टू-डोर सर्वे के दौरान बच्चों में कोरोना संबंधित लक्षणों की पडताल करें। उन्होनें बच्चों में लक्षण पाए जाने पर पूर्ण सतर्कता से उनके समय पर उपचार के प्रबध किए जाए। साथ ही कोरोना से रिकवर हो चुके लोगों मे ब्लैक फंगस के लक्षणों पर भी निगरानी रखें।
*प्रशासनिक मशीनरी का पूरा उपयोग हो*
जिला कलक्टर लोक बंधु ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए तथा आमजन में जागरूकता के लिए प्रशासनिक मशीनरी का विवेकपूर्ण प्रबंधन सुनिश्चित करें। उन्होनें कहा कि ग्राम स्तरीय कोर कमेटी के सदस्यों के अलावा आवश्यकता अनुसार अन्य कार्मिकों से काम लिया जा सकता है। 
उन्होनें कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में सार्वजनिक स्थानों पर लोगों को इकठ्ठा न होनें दिया जाए। लोगों को स्व अनुशासन के लिए प्रेरित किया जाए। उन्हानेें कहा कि बाहर से आने वाले लोगों को आवश्यक रूप से क्वारेंटाईन किया जाए। उन्होनें आरटीपीसीआर जांच के लिए सैम्पलिंग बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होनें कहा कि जहां-जहां कन्टेन्मेंट जॉन घोषित किए गए है, वहां के लोगों के लिए दैनिक आवश्यक सामग्री आपूर्ति के लिए वॉलेंटियर्स का सहयोग लिया जाए। उन्होनें पूर्ण सतर्कता बरतते हुए राज्य सरकार द्वारा जारी गाईडलाईन की पालना सुनिश्ति करवाने के निर्देश दिए।
बैठक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मोहनदान रतनू, अतिरिक्त जिला कलक्टर ओम प्रकाश विश्नोई, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नरपतसिंह सहित विभिन्न विभागीय अधिकारी मौजूद रहे। साथ ही सभी उपखंड अधिकारी एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों ने वीसी के जरिए मौजूद रहे।