व्यापार संगठन ने दुकानों के समय बदलने की मांग ।
व्यापार संगठन ने दुकानों के समय बदलने की मांग ।

बराड़ा 26 मई(जयबीर राणा थंबड़(
       कस्बा के व्यापार संगठन ने  राज्य सरकार  से दुकानों का समय सुबह 9  बजे से लेकर 4 बजे तक खोलने  की मांग की ।गौरतलब है कि पिछले 3 सप्ताह से लॉकडाउन के चलते सभी दुकाने व अन्य व्यापारिक संस्थान बिल्कुल बंद पड़े थे। दुकानदार धर्मपाल चावला, विकास सिंगला, चरणजीत सिंह कक्कड़, गुरविंदर  सिंह, अशोक कुमार ,रोहित जैन ,अजय गर्ग ,रूबल गाबा, पवन छाबड़ा ,रमेश कुमार ,अनिल कुमार हरीश कुमार ,कुलदीप गुप्ता ,संदीप कुमार आदि दुकानदारों का कहना है कि सरकार का कोरोना के संक्रमण रोकने के लिए यह एक अति महत्वपूर्ण सम्यक निर्णय था। जिसका व्यापार संगठन ने हृदय से स्वागत किया तथा  सभी दुकानदारों व आमजन ने प्रशासन का हर प्रकार से सहयोग किया। गत 3 मई से 23 मई तक संपूर्ण लॉकडाउन के पश्चात जैसे ही 24 मई को सुबह 7 बजे से दोपहर 12 बजे तक सम विषम आधार पर दुकानें खोलने की अनुमति देने की  घोषणा पर व्यापारियों के के लिए एक बड़ी राहत की आशा बंधी । परंतु दुकानों के इस समय में एक व्यवहारिक कठिनाई आने लगी जो समय सरकार द्वारा निर्धारित की गया है उस समय में ग्रहणीओं के कामकाज  का समय होता है जिसके चलते अलसुबह ग्राहकों का आना संभव नहीं हो पाता जिस समय ग्राहकों के आने का समय होता है उस समय दुकान बंद करने का समय हो जाता है सुबह के समय में आवश्यक सामग्री खरीदने के लिए ग्राहक घर से नहीं निकलते। अतः दुकानदारों ने सरकार से अपील है कि दुकानों के समय 7 बजे से लेकर 12 बजे  की अपेक्षा दिन में 9 बजे से लेकर 4 बजे तक करना अधिक तर्कसंगत व व्यावहारिक रहेगा। इससे ना केवल उपभोक्ताओं को सुविधा मिलेगी बल्कि व्यापार पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा।  सरकार उपभोक्ता एवं व्यापार संगठन के हितों की रक्षा के लिए यह कदम शीघ्र उठाएगी । सरकार को  लॉकडाउन के समय में दुकानदारों को पहुंची आर्थिक क्षति व उपभोक्ताओं की असुविधा  के दृष्टिगत दुकानों के समय में परिवर्तन की मांग पर गंभीरता पूर्वक विचार करके शीघ्र निर्णय लेना चाहिए। दुकानों के समय में तर्क संगत परिवर्तन से न केवल व्यापार को बढ़ावा मिलेगा बल के उपभोक्ताओं के लिए भी यह अधिक सुविधाजनक तथा सरकारी राजस्व के लिए भी एक सकारात्मक पग होगा।
फोटो कैप्शन-: दोपहर 12 बजे के बाद बंद पड़े बाजार का दृश्य।